जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : पंचायत चुनावों में खलल डालने के लिए गुरदासपुर के देहात क्षेत्रों में भारी मात्रा में शराब स्टोर करने का प्रत्यक्ष प्रमाण एक्साइज विभाग की ओर से पकड़ी 762 पेटियों से मिलता है। ऐसे में पुलिस ने जिन 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, को 24 घंटे बीतने के बावजूद भी गिरफ्तार नहीं किया जा सका। हालांकि तीनों आरोपित घरों से रफूचक्कर हो चुके हैं। बता दें कि एक्साइज विभाग ने गुप्त सूचना के आधार पर बड़ी मात्रा में शराब की खेप पकड़ी है। आने वाले कुछ दिनों में पंचायत चुनाव सिर पर है। ऐसे में विरोधी पक्ष और सत्ताधारी नेता वोटरों को लुभाने के लिए उन्हें शराब का लालच देकर वोट बटोरने की कोशिश में हैं।

जानकारी होने के बाद भी चल रहा काला कारोबार

मोहल्ला इस्लामाबाद में दो जगहों पर कुछ लोग अवैध शराब का कारोबार कर रहे हैं, हालांकि इस मामले को लेकर पुलिस और एक्साइज विभाग के कर्मचारियों को पता होने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की जाती और राजनीतिक दखलंदाजी के चलते उक्त दोनों लोग सरेआम क्षेत्र में सस्ती शराब का काला कारोबार करते हैं। हालांकि कुछ दिन पहले एक्साइज विभाग ने स्थानीय ठेकेदारों की मदद से गीता भवन रोड पर शराब का कारोबार करने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया था।

पेशे से शराब ठेकेदार है आरोपित

पुलिस ने जिन 3 लोगों के खिलाफ बुधवार को थाना तिब्बड़ में मामला दर्ज किया है। इनमें से बब्बू नामक एक व्यक्ति पेशेवर शराब का ठेकेदार है। उक्त व्यक्ति पहले शराब के ठेके लेता था, जब विभाग ने पॉलिसी में बदलाव किया तो जिले में ग्रुप छोटे कर दिए गए। ऐसे में गुरदासपुर में केवल 6 ग्रुप ही चल रहे हैं। जिसके चलते अधिकतर शराब के धंधे से जुड़े लोगों को ठेका नहीं मिला। जिस पर उन्होंने बाहरी राज्यों से शराब लाकर बेचने का काला धंधा शुरू कर दिया।

छापेमारी जारी

थाना तिब्बड़ के प्रभारी श्याम लाल का कहना है कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। मामला गंभीर है। आरोपित हर हाल में काबू किए जाएंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!