जागरण संवाददाता, पठानकोट

पिछले एक सप्ताह से बाधित चल रहे पठानकोट-जोगिंदर नगर रेल सेक्शन पर शुक्रवार को ट्रेनें गुलेर की बजाय ज्वालामुखी तक चली। वहीं, रद्द चल रही आठ ट्रेनों में से दो ट्रेनों को चलाकर रेलवे ने हिमाचल जाने वाले यात्रियों को कुछ राहत पहुंचाई हैं। लेकिन, रेलवे अधिकारियों का कहना है कि पठानकोट से जोगिंदर नगर तक रेल सेक्शन बहाल होने में अभी दो-तीन दिन और लग सकते हैं।

शुक्रवार को रेलवे ने पठानकोट से दोपहर 3:50 बजे जाने वाली 52469 ट्रेन चलाई। यह ट्रेन गुलेर की बजाय कि ज्वालामुखी तक चली जिससे हिमाचल जाने वाले यात्रियों को काफी राहत मिली परन्तु जब तक रेल सेक्शन पूरी तरह से बहाल नहीं हो पाता तब तक यात्रियों को राहत मिलती दिखाई नहीं देती।

यह ट्रेनें अभी हैं कैंसिल

पठानकोट से सुबह 2:15 बजे जाने वाली , 4 बजे जाने वाली (52463/ 1 पीबीे), व सायं 5:50 बजे जाने वाली (52461/ जेपी) अगले आदेशों तक कैंसल हैं।

ज्वालामुखी तक चल रही हैं यह रेल गाड़ियां

पठानकोट से सुबह 6:45 बजे जोगिंदर नगर तक जाने वाली (52465/ 3 पीबी), सुबह 10 बजे जाने वाली (52473/ 3 पीबीजे), तथा दोपहर 3:50 बजे जाने वाली (52467/ 7 पीबी) ज्वालामुखी तक चल रही हैं।

ज्वालामुखी से पठानकोट आने वाली गाड़ियां

दोपहर 2:30 बजे आने वाली 52466, सायं 5:30 बजे आने वाली 52472, रात 8:20 बजे आने वाली 52468 तथा रात 10:55 बजे आने वाली 52462 ज्वालामुखी से ही वापस पठानकोट आ रही है।

इस बात की पुष्टि करते हुए पठानकोट रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर सोमनाथ शर्मा ने कहा कि शुक्रवार को रेलगाड़ियां गुलेर की बजाय ज्वालामुखी स्टेशन तक चली। इसके अलावा रद्द चल रही चार ट्रेनों में से दोपहर 3:50 बजे चलने वाली पैसेंजर ट्रेन को चलाया गया है।