फिरोजपुर [अमनदीप सिंह]। राज्य में बिजली की बढ़ती दरों से रेलवे पर बढ़ रहे आर्थिक बोझ को कम करने के लिए फिरोजपुर रेलवे मंडल ने सोलर पैनल को प्रमुखता देनी शुरू कर दी है। फिरोजपुर रेल मंडल के तहत अमृतसर से हरिद्वार तक चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस को पूरी तरह से सोलर पैनल से सुसज्जित करने की तैयारी है। इसके लिए 31 जनवरी, 2020 तक ट्रेन के दस कोचों की छतों पर सोलर पैनल लगाने का टारगेट दिया गया है। डीआरएम राजेश अग्रवाल का कहना है कि सोलर पैनल पर ट्रेन चलाकर वह रेलवे के करोड़ों रुपये को खर्च होने से बचाकर देश की सेवा में भागीदार बनेंगे। 

सोलर पैनल सुविधा से पूर्ण अमृतसर और हरिद्वार के बीच चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस पहली ट्रेन होगी। इनमें रेलवे के जनरेटर सिस्टम और ट्रेन की रफ्तार से पैदा होने वाली बिजली से ट्रेन के अंदर उपकरण चलते हैं। वर्तमान में कोचों के नीचे अल्टरनेट सिस्टम लगाए गए हैं। इनसे कोचों के पंखे, ट्यूब लाइट और चार्जर प्वाइंट को इससे बिजली मिलती है और ट्रेन में साधारण किराया अदा करके यात्री इन सुविधाओं का लाभ ले रहे हैं। पूर्ण सोलर पैनल होने के बाद भी यात्रियों को पंखे, ट्यूब लाइट और चार्जर प्वाइंट की सुविधा पहले की तरह बिना रुकावट मिलेंगी। इसमें कोई कटौती नहीं होगी। 

सोलर पैनल से सुविधा

सोलर पैनल सुविधा वाली अमृतसर-हरिद्वार जनशताब्दी एक्सप्रेस फिरोजपुर डिवीजन की बड़ी पहली लाइन वाली ट्रेन होगी। रेलवे ने 31 जनवरी, 2020 तक टारगेट रखा है। इसमें जनशताब्दी एक्सप्रेस के सभी दस कोचों के ऊपर सोलर पैनल लगाने हैं। इसके लिए कार्य प्रगति पर है। ट्रेन में दस कोच हैं और प्रत्येक कोच में 35 ट्यूब लाइटें और 20 पंखे हैं। इस तरह से सोलर पैनल से पूरी गाड़ी में 350 ट्यूबलाइटें और 200 पंखे चलेंगे तथा चार्जर प्वाइंट की सुविधा भी रहेगी।

देश की तरक्की ही रेलकर्मी का फर्ज : डीआरएम 

डीआरएम राजेश अग्रवाल का कहना है कि उनके समेत रेलवे का प्रत्येक कर्मचारी रेलवे और रेल को ईमानदारी के साथ बिना रुकावट चलाने के लिए हमेशा तत्पर रहता है। रेलवे के परिचालन में हर कर्मचारी की मेहनत शामिल होती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!