जेएनएन, फिरोजपुर/तरनतारन। किसानों ने अपनी मांगों को लेकर सोमवार दोपहर अमृतसर-जालंधर रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया। किसानों के धरने से 17 रेलगाडिय़ां प्रभावित हुई हैं। रेलवे द्वारा 14 गाडिय़ों को रद किया गया, आठ रेलगाडिय़ों को बदले रूट से चलाया गया।

फिरोजपुर मंडल रेलवे के डीआरएम विवेक कुमार ने बताया कि रेलवे के अधिकारी स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर किसानों को जल्द रेलवे ट्रैक खाली करने की अपील कर रहे हैं। देर शाम तक धरना जारी था।

फिरोजपुर मंडल के अनुसार किसानों ने अमृतसर-जालंधर रेलवे सेक्शन पर मानावाला के नजदीक सी-35 फाटक के पास रेलवे ट्रैक को जाम किया। इसके चलते टाटा-जम्मूतवी, दिल्ली-पठानकोट, अमृतसर-नांदेड़ साहिब, अमृतसर-विलासपुर, अमृतसर-नई दिल्ली, अमृतसर-हावड़ा,मुंबई-अमृतसर, सियालदाह-अमृतसर व जम्मूतवी-टाटा को रूट बदलकर चलाया गया।

उधर तरनतारन में अपनी मांगों को लेकर जेल भरो आंदोलन के तहत एक मार्च से डीसी कार्यालय का घेराव कर रहे किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि अब अमृतसर-दिल्ली रेल मार्ग उतनी देर तक बंद रहेगा जब तक सरकार मांगें नहीं मानती। इसके बाद किसानों ने गांव देवीदासपुरा स्थित रेलवे ट्रैक पर धरना शुरू कर दिया। ट्रेनों को वाया तरनतारन और पठानकोट से दिल्ली भेजा गया। अमृतसर के स्टेशन डायरेक्टर अमृत ङ्क्षसह ने बताया कि हालात से लग रहा है कि सोमवार रात किसान ट्रैक से हटने वाले नहीं हैं। मंगलवार दोपहर तक हालात सामान्य होने की उम्मीद जताई जा रही है।

ये ट्रेनें हुईं रद

अमृतसर से नई दिल्ली जाने वाली ट्रेन नंबर 14505, अमृतसर से चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन नंबर 12412 और चंडीगढ़ से अमृतसर आने वाली ट्रेन नंबर 12241, अमृतसर से हिसार जाने वाली ट्रेन 54602, लुधियाना-अंबाला पैसेंजर ट्रेन नंबर 64524, अमृतसर-नंगल डैम, अमृतसर-चंडीगढ़, चंडीगढ़-अमृतसर, अमृतसर-होशियारपुर व लुधियाना-अंबाला पैसेंजर। आंशिक रूप से रद की गईं दो रेलगाडिय़ों में नई दिल्ली-अमृतसर व सहरसा-अमृतसर शामिल हैं। मंगलवार सुबह चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन नंबर 12242 भी रद रहेगी।

इन ट्रेनों के रूट बदले गए

टाटा-जम्मूतवी ट्रेन (18101) को पठानकोट से होते हुए जालंधर, दिल्ली-पठानकोट (22429) को पठानकोट होते हुए जालंधर, अमृतसर-नांदेड़ (12422) को तरनतारन से होते हुए ब्यास, अमृतसर-बिलासपुर (18238) को तरनतारन से ब्यास, अमृतसर- नई दिल्ली (12030) को तरनतारन से गोइंदवाल साहिब होते हुए ब्यास, अमृतसर-हावड़ा (13006) को तरनतारन से होते हुए ब्यास, सियालदाह-अमृतसर (12317) को तरनतारन से ब्यास और जम्मूतवी-टाटा (18102) को भी तरनतारन से होते हुए ब्यास के रास्ते रवाना किया गया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!