संवाद सूत्र, गुरुहरसहाय

फिरोजपुर की ब्लाक गुरुहरसहाय के गांव बाजेके में जमीन विवाद को लेकर गत दिनों चली गोली के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस मामले में 42 ज्ञात सहित 92 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था जिसे क्रांतिकारी किसान म•ादूर यूनियन के नेताओं ने झूठा करार दिया। कत्ल के झूठे पर्चे रद्द करवाने और कांग्रेसी नेता की तरफ से किसान हाकम चंद की छीनी दुकान को लेकर उन्होंने धरना दिया। मामला पांच मरले जमीन वापस दिलाने का है।

क्रांतिकारी मजदूर यूनियन की ओर से गुरुहरसहाय थाने के आगे धरना दिया गया। यूनियन नेता रेशम ने कहा कि करीब तीन साल पहले बाजेके के कांग्रेसी नेता ने वहां के ही किसान हाकम चंद की दुकान गिरा दी थी। जत्थेबंदी की तरफ से बार-बार पुलिस प्रशासन के पास से इन्साफ की मांग की जा रही थी। कांग्रेसी नेता की तरफ से दुकानदार के पांच मरले जमीन पर दोबारा कब्जा किया जा रहा था, जिस पर जत्थेबंदी की तरफ से हाकम की जमीन पर कजा रोकने की कोशिश की गई तो उक्त कांग्रेसी नेता ने गोलियां चला दीं, जिसमें हाकम का लड़का जख्मी हो गया।

मौके पर पहुंचे सीनियर पुलिस अधिकारियों ने जत्थेबंदी को विश्वास दिलाया था कि जत्थेबंदी पर कोई झूठा पर्चा दर्ज नहीं किया जाएगा। परन्तु पुलिस ने कांग्रेसी नेता का पक्ष दबाते हुए संगठन के दर्जनों नेताओं सदस्यों पर झूठा पर्चा दर्ज कर दिया।

एसपी (डी) अजय राज सिंह ने बताया कि जमीन विवाद को लेकर चली गोली में दोनों पक्षों के चार व्यक्ति जख्मी हुए हैं जिस पर दोनों पक्षों के बयान दर्ज करके पर्चा दर्ज कर लिया गया है जिसकी जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!