संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : जिले में बुधवार सुबह जैसे ही सूर्य देवता बादलों से निकल सामने आए तो उसके दर्शन कर पतंगबाजों के चेहरे खुशी से खिल उठे। हालांकि दिनभर बादलों का आना जाना लगा रहा, लेकिन दो दिनों से खराब चल रहे मौसम व बूंदाबांदी ने पतंगबाजों व दुकानदारों की दिक्कतें बढ़ा दी थीं। मौसम साफ देखते हुए कुछ शौकीन दुकानों पर खरीदारी करते दिखे, जबकि कुछ छतों पर पतंगबाजी करने में मशगूल रहे।

इस त्योहार का सबसे ज्यादा लुत्फ फिरोजपुर में उठाया जाता है। लाखों रुपये से पतंगों व डोर की खरीददारी होती है। जिले में भारी जोश व उत्साह से मनाये जाने वाले बसंत पंचमी के त्योहार से पहले यानी बुधवार को ही छतों पर डीजे की धुनें बजने लगी। पतंगबाजी के शौकीनों ने पतंग व डोर की खरीदारी करनी शुरू कर रखी थी ,देर रात तक शौकीन खरीददारी करते बाजार आर्य समाज चौक में दिखाई दिए। आर्य समाज चौक जहां पर कई दुकानें पतंगों की है वहां पर सुबह से ही शौकीनों ने खरीददारी शुरू कर दी थी । कुछ घरों की छतों पर डीजे बजते सुनाई दे रहे थे तो दुकानों पर भीड़ से साफ हो रहा था कि कितने उत्साह से त्योहार को लेकर लोगों में जोश है।

खाने -पीने के सामान की खरीददारी में भी लोग जुट चुके थे , शहर की नमक मंडी से लेकर बड़ी सब्जी मंडी में लोगों द्वारा अपने घर त्योहार मनाने आ रहे मेहमानों के लिए फलों व सब्जियों की खरीद की जा चुकी है । गाजर से लेकर किन्नू तक की खुलकर खरीद की जा रही थी । अन्य सामान का तो कहना ही क्या । खास बात यह देखने को मिली कि किसी भी चौक जहां पर दुकानें थी वहां पुलिस नजर नही आई और बात का फायदा उठा दुकानदार उठाते रहे। पहले 29 जनवरी को त्योहार मनाया जाना था, लेकिन मौसम के कारण अब 30 को मनाया जा रहा है और सरकारी छुट्टी होने के कारण नौकरीपेशा भी घरों की छतों पर ही दिखेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!