जागरण संवाददाता. फिरोजपुर : कोरोना महामारी की आने वाली तीसरी लहर के लिए जिला फिरोजपुर का सेहत विभाग तैयार नहीं है। फिरोजपुर के सिविल अस्पताल में वेंटिलेटर और एक्सपर्ट ना होने से प्राइवेट अस्पतालों के बैड भरे हुए हैं। हालाकि जिले में कोरोना संक्रमण से रिकवर होने वालों का आकड़ा बढ़ रहा है लेकिन तीसरी लहर की संभावना से निपटने के लिए विभाग के पास साधन ही नहीं। तीसरी लहर में बच्चों के लिए सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में बेड आरक्षित ही नहीं है।

सिविल सर्जन डा. राजिंदर राज का कहना है तीसरी लहर के अभी कयास ही है। सरकारी हिदायतों के मुताबिक फिरोजपुर में प्रबंध हो रहे है। वेंटिलेटर्स तो एक्सपर्ट के बिना किसी काम के नहीं ।

सरकारी अस्पताल के सातों वेंटिलेटर्स खराब होने के बाद कोरोना संक्रमितों को फरीदकोट के मेडिकल कालेज रेफर किया जाता रहा है। प्रधानमंत्री केयर योजना के तहत फिरोजपुर को मिले चार वेंटिलेटर अलमारी में रखे खराब हो गए, जिन्हें फरीदकोट मेडिकल कालेज भेजा गया। सिविल अस्पताल फिरोजपुर में 35-35 बेड की क्षमता वाले दो कोरोना वार्ड तैयार किए गए हैं, लेकिन इंतजाम अधूरे है। शहर के प्राइवेट अस्पताल में कोरोना संक्रमितों के लिए स्पेशल वार्ड तो तैयार हुए लेकिन पूरे बेड भरे होने के कारण वेंटिलेटर्स के लिए सिफारिशें आ रही है।

सरकारी हिदायतों के अनुसार की जा रही तैयारियां : सिविल सर्जन

सिविल सर्जन राजिंदर राज ने कहा स्पेशलिस्टों की कमी के कारण वेंटीलेटर्स भी किस काम के। सेहत विभाग ने आक्सीजन का प्रबंध किया है। आक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनाया है। सरकार की हिदायतों के मुताबिक तैयारिया भी की जा रही है। जल्द ही आक्सीजन प्लाट शुरू कर दिया जाएगा।

फिरोजपुर में कोरोना से तीन की मौत, 143 पाजिटिव संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : जिले में शुक्रवार को कोरोना के 142 नए केस सामने आए है, जबकि फिरोजपुर जिले में 123 संक्रमित स्वस्थ हुए हैं। इसके अलावा 52 वर्षीय पुरुष, 53 वर्षीय महिला व 70 वर्षीय महिला की कोरोना से मौत हुई है। जिले में अब तक 179081 लोगों के टेस्ट किए गए है, जिनमें से 13146 पाजटिव केस पाए गए है और 11602 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

Edited By: Jagran