जागरण संवाददाता, फिरोजपुर

गुणात्मक शिक्षा की ओर बढ़ने के लिए मोगा, फिरोजपुर जिलों के स्कूल मुखियों की वर्कशॉप मंगलवार को मेरीटोरियस स्कूल में हुई। वर्कशॉप में शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार ने स्कूल मुखियों को अध्यापन के कई नए तरीके बताए, जिससे शिक्षा में गुणात्मक रूप से सुधार हो और उसका फायदा विद्यार्थियों को स्पष्ट रूप से मिल सके।

अपने संबोधन में कृष्ण कुमार ने कहा कि भाषाओं पर विद्यार्थियों की पकड़ होनी ही चाहिए। इसके लिए विद्यार्थियों को लिखने-पढ़ने व बोलने में महारत हासिल करनी होगी। इसके लिए प्रयास करने ही होंगे। इससे विद्यार्थियों की कुशलता में इजाफा होगा। भाषाओं पर विद्यार्थियों की अच्छी पकड़ होने से उन्हें कोई भी विषय पढ़ाने-समझाने में मुश्किल नहीं होगी और इससे आसानी से लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

वर्कशॉप के दौरान डॉ दे¨वदर ने कहा कि जो खिलाड़ी पढ़ने में कमजोर हैं और उनकी रूचि खेलों की ओर है, ऐसे विद्यार्थियों के प्रति अध्यापकों को चाहिए कि वह उनके खेल कौशल को पहचाने और उन्हें एक बेहतर खिलाड़ी के रूप में तरासें। उन्होंने कहा कि नई खेल नीति के तहत प्रत्येक बच्चे को किसी न किसी खेल में भागीदारी करनी आवश्यक है। उन्होंने बताया कि पढ़ो पंजाब, पढ़ाओ पंजाब अभियान के तहत शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिए अध्यापकों को ब्लॉक स्तर पर भी वर्कशॉप के जरिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।

वर्कशॉप के दौरान उन स्कूलों के बारे में मल्टीमीडिया के द्वारा दिखाया व बताया गया, जिन्होंने अपने प्रयासों से स्कूल को सुंदर स्कूल के रूप में तबदील किया है। इस अवसर पर डॉ जरनैल ¨सह सहायक डायरेक्टर ट्रे¨नग, डॉ दे¨वदर ¨सह स्टेट कोऑर्डिनेटर पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब, जिला शिक्षा अधिकारी मोगा व फिरोजपुर के अलावा शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran