संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : हलका गुरुहरसहाय के गांव मोहन हरदो (लालचींया) का व्यक्ति अपनी बेटी की तलाश में दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है। इंसाफ न मिलते देख पिता ने गुरुहरसहाय में पत्रकारवार्ता में भावुक होते हुए बताया कि उसकी बेटी व बेटा दोनों गुरुहरसहाय में आइलेट्स करते है। बीते दिन वह अपने परिवार की दवा लेने के लिए पीजीआइ गया हुआ था। उसकी बेटी घर में अकेली थी और दोपहर के समय उससे फोन पर बात हुई थी। इसके बाद उसका फोन बंद आना शुरू हो गया। जब घर आया तो बेटी नहीं थीं और आसपास पता करने पर उसका कुछ पता नहीं चला। लड़की के पिता ने कथित आरोप लगाते हुए कहा कि गांव बस्ती केसर सिंह वाली के गुरमेज सिंह, उसके बेटे व अन्य लोगों ने साजिश कर उसकी बेटी को अगवा कर लिया है। इससंबंध में एक शिकायत थाना लक्खोके बहराम और मुख्यमंत्री, डीएसपी के अलावा कई अधिकारियों को दी थी। पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया है। मगर अब तक न तो बेटी का कुछ पता चला है और न ही आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही लड़की के पिता ने आरोप लगाया की इस मामले में खुद को वकील बताने वाले बलतेज सिंह निवासी केसर सिंह वाला और हरबंस सिंह निवासी केसर सिंह वाला पूर्व सरपंच का भी हाथ है। पीड़ित ने कहा कि हाई कोर्ट व अन्य कई जगहों पर प्रार्थना पत्र दिए है, लेकिन पुलिस ने अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। उसने पुलिस के उच्चाधिकारियों व मुख्यमंत्री से आरोपितों को गिरफ्तार कर बेटी को सौंपने की मांग की है।

मुझ पर लगाए सभी आरोप बेबुनियाद : बलतेज सिंह

उधर, बलतेज सिंह ने कहा कि उन पर लगाए सभी आरोप बेबुनियाद और झूठे है। गुरमेज सिंह या किसी अन्य के साथ मेरा कोई दूर-दूर का संबंध नहीं है।

Edited By: Jagran