मुख्य संवाददाता, फिरोजपुर : पर्यावरण संरक्षण के लिए लोग विभिन्न प्रयास कर रहे हैं। कोई पौधरोपण कर इसे सुरक्षित करने का प्रयास कर रहा है तो कोई किसानों को पराली जलाने से रोकने के लिए जागरूक कर रहा है। इन सबसे अलग बस्ती टैंकावाली से पांच बार पार्षद चुने जा चुके दयाल स्वरूप कालिया ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में नया काम किया है। वह इको रिक्शा के माध्यम से पर्यावरण को बचाने की कोशिश में जुटे हैं।

पार्षद दयाल स्वरूप कालिया वाहनों के धुएं को पर्यावरण प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण मानते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने दो दिन पहले शहर में चलने के लिए 35 इको रिक्शों का प्रबंध किया है। उनका मानना है कि इससे एक तो गरीब रिक्शे वालों को रोजगार मिलेगा साथ ही पर्यावरण संरक्षण भी हो पाएगा। कालिया का कहना है कि वायु प्रदूषण में वाहन भी खासी भूमिका निभाते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्हें इको रिक्शे का आइडिया सूझा। ऐसे रिक्शों के ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल से जहां पेट्रोल की बचत होगी वहीं प्रदूषण भी नहीं फैलेगा। पर्यावरण बचाने के लिए इससे बेहतर और क्या जरिया हो सकता है। इसके अलावा गरीब लोगों को रोजगार मिलेगा। कालिया के अनुसार उन्होंने बैंक से बात कर 35 रिक्शे पास करवाए हैं। ताकि ये रिक्शा चालक ही कल को इनके मालिक बन सकें।

उनका कहना है कि पर्यावरण संरक्षण की पहल करते हुए लोगों को दो पहिया और चार पहिया वाहनों की निर्भरता कम करनी चाहिए। अधिक से अधिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग किया जाना चाहिए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर