संवाद सूत्र, फाजिल्का : सेवा भारती फाजिल्का इकाई द्वारा गोबिद राम लाइब्रेरी में एक सादे कार्यक्रम का आयोजन करके 108 कंजकों का पूजन किया गया। संस्था की महासचिव रमा भारती शर्मा ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान मुख्य मेहमान के रूप में पन्ना लाल गुप्ता व शिव राज गुप्ता शामिल हुए, जबकि बाबूलाल अरोड़ा मुख्य वक्ता के रूप में व अशोक कालड़ा, अमित दहुजा, रवि अरोड़ा, ओम कटारिया व कृष्ण अरोड़ा विशेष रूप से उपस्थित रहे।

इस मौके सेवा भारती के पदाधिकारियों व मेहमानों ने ज्योति प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत करवाई। इस दौरान मुख्य मेहमान पन्ना लाल गुप्ता ने कहा कि आज की लड़कियां किसी भी मुकाबले में लड़कों से कम नहीं हैं, लेकिन समाज के कुछ लोग अभी भी बेटियों को बोझ समझते हैं, लेकिन उनकी सोच में बदलाव लाने के लिए सेवा भारती अहम प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि दहेज की प्रथा सबसे बुरी प्रथा है। आज भी दहेज के लिए कई लड़कियों को प्रताड़ित किया जाता है, जिससे ही माता-पिता बेटियों को बोझ समझने लगते हैं। आज जरूरत है इस प्रथा को पूरी तरह से खत्म करने की। उन्होंने समाजसेवी संस्थाओं को दहेज प्रथा, भ्रूण हत्या के खिलाफ बड़ी मुहिम चलाने की अपील की। इस मौके मंच संचालन कृष्ण अरोड़ा द्वारा किया गया। अंत में सेवा भारती के पदाधिकारियों ने सभी का आभार प्रगट करते हुए विश्वास दिलाया कि वह इन दोनों कुरीतियों के खिलाफ हमेशा लड़ते रहेंगे और लोगों को जागरूक करेंगे। कार्यक्रम के आयोजन में अमित उबवेजा, राकेश दहुजा, सदीप गुप्ता, जगदीश कटारिया, गिरधारी लाल, मनोज कुमार, अशोक पहावा, सेवा भारती परिवार की दीदी, राजकुमार शर्मा, जगदीश कटारिया आदि ने सहयोग किया।

Edited By: Jagran