जागरण संवाददाता, अबोहर : जिला कानूनी सेवाएं अथॉरिटी द्वारा घरेलू हिंसा से पीड़ित व्यक्तियों, महिलाओं, बच्चों व बुजुर्गो को उनकी सुरक्षा के लिए तुरंत कानूनी सहायता उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

शनिवार को लीगल एड क्लीनिक, हेल्प डेस्क थाना खुइयां सरवर में आयोजित बैठक में जिला कानूनी सेवाएं अथॉरिटी के सदस्य व रिटायर्ड एसडीएम बीएल सिक्का, अथॉरिटी के पैनल एडवोकेट देसराज कंबोज, थाना खुइयां सरवर के मुख्य मुंशी रसदीप सिंह, मनप्रीत सिंह, शाम सिंह, सुमन रानी ने भाग लिया। बैठक की अध्यक्षता थाना खुइयां सरवर पुलिस सांझ केंद्र के प्रभारी एएसआइ भूप सिंह ने की।

सिक्का ने कहा कि पंजाब राज्य में लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा के काफी मामले सामने आने पर पंजाब कानूनी सेवाएं अथॉरिटी ने इसका गंभीर संज्ञान लिया है। उन्होंने लोगों से अपील की कि घरेलू हिसा से पीड़ित टोल फ्री नंबर 1968 पर संपर्क करके तुरंत कानूनी सहायता हासिल कर सकते हैं।

सिक्का ने कहा कि कानूनी सेवाएं अथॉरिटी का मुख्य उद्देश्य पीड़ित लोगों को सुरक्षा मुहैया करवाना है। एडवोकेट देसराज कंबोज ने कहा कि दो महीने के बाद क‌र्फ्यू खुल गया है, लेकिन अभी भी बच्चों, महिलाओं व बुजुर्गो को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए जिला कानूनी सेवाएं अथॉरिटी की अगुआई में अबोहर कोर्ट कांप्लेक्स में लीगल एड क्लीनिक, थाना खुइयां सरवर में लीगल एड क्लीनिक, हेल्प डेस्क व थाना बहाववाला के एरिया राजपुरा में भी लीगल एड क्लीनिक कार्य रहे हैं।

थाना खुइयां सरवर पुलिस सांझ केंद्र के प्रभारी एएसआइ भूप सिंह ने कहा कि पब्लिक लॉकडाउन के दौरान भी अपने घर से ऑनलाइन अप्लाई करके सेवाएं हासिल कर सकते हैं।

थाना खुइयां सरवर के मुख्य मुंशी रसदीप सिंह ने कहा कि अब भी क‌र्फ्यू शाम सात बजे से सुबह छह बजे तक जारी है। अगर जरूरी कार्य हो तो ही घर से बाहर निकलना चाहिए और मास्क जरूर पहनने चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!