संवाद सहयोगी, अबोहर : नई अनाज मंडी में काम करने वाले मजदूरों ने मंगलवार को मांगों को लेकर सीसीआइ के खिलाफ धरना लगाकर रोष प्रदर्शन किया। इस कारण नरमे की बोली भी देरी से शुरू हो पाई व किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ा। तोला मजदूर यूनियन के प्रधान अमरनाथ ने बताया कि एक मांगपत्र सीसीआई को सौंपा था लेकिन उनकी मांगों की ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

प्रधान अमरनाथ ने कहा कि सीसीआइ द्वारा उनके साथ पिछले कुछ दिनों से धक्केशाही की जा रही है और मजदूरों को अनदेखा कर सीधा फैक्ट्रियों में माल भेजा जा रहा है। मजदूरों को उनकी मजदूरी नहीं मिल रही, जिससे उनके घरों का गुजारा चलाना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होगी तब तक नरमे व धान का कोई भी काम मजदूर नहीं करेंगे। इस मौके पर ओमप्रकाश, संजय कुमार, नसीब कुमार, मदन लाल, रमेश कुमार, निर्मल सिंह, राजीव कुमार, धर्मपाल, ताराचंद आदि मजदूर मौजूद थे। जल्द सुलझा लिया जाएगा मामला : बिश्नोई

उधर, मार्केट कमेटी सेक्रेटरी सुलोध बिश्नोई ने कहा कि सीसीआइ व मजदूरों में आपसी तालमेल ठीक न होने के कारण यह समस्या आ रही है। लेकिन दो घंटे बाद मंडी में खरीद का काम शुरू करवा दिया गया है। जल्द ही मजदूरों से तालमेल कर मंडी का बाकी काम शुरू करवा दिया जाएगा। वहीं सीसीआइ के राजीव शर्मा से बात करनी चाही तो उनसे बात नहीं हो पाई।

--

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!