अमनदीप ¨सह, फाजिल्का : फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप और यू-टयूब देखने के शौकीन और उसमें नए-नए हैरतअंगेज कर देने वाले वीडियो अपलोड करने वाले सावधान हो जाएं। कहीं उनका अपलोड किया हुआ वीडियो या कमेंट उन्हें सलाखों के पीछे न पहुंचा दे। ऐसा ही कुछ फाजिल्का जिले के गांव कौड़ियां वाली में एक युवक के साथ हुआ है, जिसने यू-टयूब से एक वीडियो डाउनलोड करके उसे देखते हुए पिस्तौल बना डाला और यही नहीं, एक कारतूस भी तैयार कर लिया। लेकिन इसके लिए उसे जेल की हवा खानी पड़ गई। सदर पुलिस ने गांव कौड़ियां वाली में नाकाबंदी के दौरान मोटरसाइकिल पर आए युवक पवन कुमार को पिस्तौल व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपित ने बताया कि वह मोटर बांधने का काम करता है। मोटर मैकेनिक होने के साथ-साथ वह बिजली का काम भी अच्छी तरह से जानता है और वेल्डिंग का अच्छा कारीगर है। वह फेसबुक, ट्विटर, वाट्सअप और यू-टयूब देखने का शौकीन है। तरह-तरह के वीडियो देखते हुए एक दिन मोबाइल में पिस्तौल बनाने का वीडियो अपलोड किया। उसने वीडियो में पिस्तौल बनाने की विधि को अच्छी तरह से देख लिया। फिर उसी के मुताबिक एक लोहे की पाइप का टुकड़ा लेकर, स्प्रिंग और अन्य कुछ पुर्जे वेल्डिंग करके पिस्तौल बना डाला। जोकि एक देसी पिस्तौल बन गया। इसके बाद उसने किसी तरह से एक कारतूस भी बना लिया। वैसे तो पवन शादीशुदा है और उसके दो बच्चे, एक बेटा और बेटी भी हैं। पवन ने एक प्रयोग के तौर पर पिस्तौल बना डाला था, लेकिन कानूनी तौर पर ऐसा करना पुलिस की नजर में अपराध है। पुलिस ने पवन को गिरफ्तार करके अदालत में पेश किया, जहां से उसे 25 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

सच पता लगाने में जुटी पुलिस : एएसआइ

एएसआइ मिलख राज ने बताया कि आरोपित पवन यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर पिस्तौल बनाने की बात कर रहा है, लेकिन पुलिस सच का पता लगाने में जुटी है कि क्या आरोपित ने पिस्तौल यूं ही बना डाला है या फिर किसी अपराधिक घटना को अंजाम देने के लिए बनाया है। इस मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran