संस, अबोहर : श्री सनातन धर्म प्रचारक राम नाटक क्लब की ओर से करवाई जा रही रामलीला में बुधवार रात लंका दहन का शानदार मंचन किया गया। इस दौरान दिखाया गया कि हनुमान जी रावण की लंका में प्रवेश कर माता सीता से मिले और उन्हें प्रभु श्री राम जी की अंगूठी भेंट कर उनके सकुशल होने का संदेश दिया।

इसके बाद हनुमान जी ने वाटिका से फल खाने के बाद पूरी वाटिका को तहस नहस कर दिया। इसके बाद जब रावण के पुत्र मेघनाद ने उन्हें बंदी बनाकर लंका में पेश किया तो रावण के आदेशों पर हनुमान जी की पूंछ को आग लगाने पर हनुमान जी ने पूरी लंका को ही जला डाला और जय श्री राम के नारे लगाते हुए वहां से रवाना हो गए और प्रभु श्री राम से मिलकर उन्हें मां सीता की कुशलता का समाचार सुनाया। कार्यक्रम के मुख्यातिथि डा. हर्ष वधवा, पिरथी राज सेवट थे, जिन्होंने दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम की शुरुआत की।

सेवा भारती ने करवाया कंजक पूजन संस, अबोहर: शरदीय नवरात्र के उपलक्ष्य में सेवा भारती की ओर से गोबिद नगरी स्थित श्री प्रसन्नी देवी हनुमान मंदिर धर्मशाला के प्रांगण में कंजक पूजन किया गया। पुरोहित राजेश के सानिन्ध्य में नवमी पर कंजक पूजन किया गया।

इस अवसर पर पार्षद नमिता सेतिया मुख्यातिथि थी, जबकि नवयुग स्कूल के संचालक तथा रासा के प्रांतीय उपाध्यक्ष श्याम लाल अरोडा, रासा की स्थानीय ईकाई प्रधान किरण अरोड़ा ने कंजक पूजन की अध्यक्षता की। बाला जी आशीर्वाद संघ के महासचिव कश्मीरी लाल बांसल ने कहा कि हर घर में कन्या का होना अति आवश्यक है। श्याम लाल अरोड़ा ने इस कार्यक्रम की मुबारकबाद देते हुए कहा कि जिस घर में कंजक का वास होता है, वहां लक्ष्मी वास करती है। कार्यक्रम का संचालन कुलभूषण हितैषी ने किया। नरेश बाघला ने सभी का धन्यवाद किया।

Edited By: Jagran