संस, अबोहर : शहर में डेंगू का प्रकोप भी बढ़ रहा है, लेकिन इसके बावजूद नगर निगम व प्रशासन प्रभावी कदम नहीं उठा रहा। सरकारी रिकार्ड में बुधवार तक केवल 105 केस ही डेंगू के सामने आए थे, जोकि अब 150 तक पहुंच चुके हैं। उधर, प्राइवेट अस्पताल व लैब में यह आंकड़ा और भी ज्यादा है, लेकिन निगम की ओर से शहर के कई इलाकों में अभी तक फागिंग नहीं करवाई गई, जिसका मुख्य कारण निगम के पास बड़ी मशीन का न होना है।

सरकारी अस्प्ताल के हेल्थ इंस्पेक्टर टहल सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की 10 टीमें, जिसमें 50 कर्मचारी शामिल हैं, घर-घर जाकर डेंगू का लारवा ढूढने के अलावा लोगों को जागरूक कर रहे हैं। टहल सिंह ने बताया कि डेंगू की रोकथाम के लिए जहां नगर निगम को फागिग तेजी से करवानी चाहिए वहीं लोगों को भी इसके लिए जागरूक होना होगा। उन्होंने कहा कि यह लारवा साफ पानी में पनपता है जिसमें फ्रिज की ट्रे, गमले व अन्य खुले बर्तन हो सकते हैं।

----

पूरे बदन को ढक कर रखे लापरवाही न बरते: डॉ. अजय मोहन

डॉ. अजय मोहन शर्मा ने कहा कि डेंगू के बचाव के लिए जरूरी है कि पूरे बदन को ढक कर रखा जाए। उन्होंने कहा कि वैसे तो यह मच्छर फागिंग करने से ही खत्म होता है लेकिन जब तक इसका प्रबंध नहीं होता लोगों को अपने घरों में मच्छर मार दवा जैसे हिट वगैरह का इस्तेमाल करना चाहिए। नगर निगम जल्द करें फागिग करवाने का इंतजाम

नर सेवा नारायण सेवा समिति के प्रधान राजू चराया, समाजसेवी दर्शन लाल चुघ ने नगर निगम व डिप्टी कमिश्नर से मांग की है कि शहर में बढ़ते डेंगू के प्रकोप को देखते हुए जल्द से जल्द फागिंग करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि फागिग करवाने वाली बड़ी मशीनें पहले भी किराये पर आती रही है व अब भी पता नहीं क्यों नहीं मंगवाई जा रही। नगर निगम शहर में फागिंग तो करवा रहा है लेकिन छोटी मशीन से ज्यादा एरिया कवर नहीं हो पा रहा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021