जागरण संवाददाता, अबोहर : सोमवार को बैंकों को तीन घंटे के लिए खोलने की इजाजत के दौरान फिजिकल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ती देखी गई। बैंकों में बड़ी संख्या में लोग पैसे लेने पहुंचे वहीं पेंशन लेने के लिए पहुंचे बुजुर्गों व विधवाओं को निराशा का सामना करना पड़ा। सोमवार को जैसे ही बैंक खुले तो भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। सबसे अधिक भीड़ स्थानीय गली नंबर 4 स्थित एसबीआइ एवं पंजाब नशनल बैंक की मुख्य शाखा में देखने को मिली। बैंक के बाहर लगी लाइन में अधिकतर बुजुर्ग, विधवाएं एवं जरूरतमंद लोग दिखाई दिए, जो अपनी पेंशन लेने पहुंचे थे। हालांकि बैंकों के अंदर फिजिकल डिस्टेंस का ध्यान रखा गया और बैंक स्टाफ द्वारा सभी उपभोक्ताओं को एक-एक करके बैंक के अंदर जाने दिया गया। लेकिन बैंक के बाहर लोग बिना मास्क व साथ-साथ खड़े थे और दूरी का ध्यान नहीं रख रहे थे।

आनंद नगरी से बैंक में पेंशन लेने पहुंची 81 वर्षीय शीला रानी ने बताया कि वह सुबह ही पंजाब नेशनल बैंक में आ गई थी, परंतु करीब एक घंटे बाद जब उसकी बारी आई तो पता चला कि उसकी पेंशन ही नहीं आई थी। शहर के साथ-साथ गांवों में भी बैंकों के बाहर उपभोक्ताओं की लंबी कतारें देखने को मिली। बैंक 31 मार्च को भी खुले रहेंगे और कम से कम स्टाफ के साथ काम करेंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!