संवाद सहयोगी, फाजिल्का : भारत सरकार व पंजाब सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पिछले दो माह में 592 मरीज उक्त योजना का लाभ ले चुके हैं। इस योजना को ओर अच्छे ढंग के साथ चलाने के लिए सिविल सर्जन डॉ. दलेर सिंह मुल्तानी व स्टाफ द्वारा किए जा रहे कार्यो की चेकिग की गई। इसमें पाई गई त्रुटियों को दूर करने संबंधी निर्देश जारी किए गए।

सिविल सर्जन ने बताया कि इस स्कीम के अंतर्गत 2,16,594 कार्ड बनाए जा चुके हैं। स्कीम के तहत अब तक सरकारी अस्पतालों में 292 और प्राइवेट अस्पतालों में 300 मरीज लाभ ले चुके हैं। डॉ. मुल्तानी ने बताया कि चाहे यह स्कीम 100 प्रतिशत लोगों के हक की स्कीम है, लेकिन अभी भी लोग जागरूक न होने के कारण इस स्कीम का पूरा लाभ नहीं उठा रहे। डॉ. मुल्तानी ने अपील की कि हर अस्पताल में दाखिल होने वाला मरीज इस स्कीम के बारे में अस्पताल के स्टॉफ (अरोग्य मित्र) से जरूर पूछताछ करे और अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड जरूर साथ रखे, जिससे लाभार्थी का पता लग सके।

---

सिविल सर्जन ने की मरीजों का जाना हालचाल

डॉ. मुल्तानी ने इस स्कीम के तहत जिला अस्पताल में दाखिल मरीज सरबजीत कौर गांव करनीखेड़ा और प्रवीन रानी गांव हौज गंधड़ जिनका आपरेशन हुआ था, के साथ मुलाकात की। दोनों मरीजों ने इस स्कीम के बारे में बताते हुए कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत सरकारी अस्पताल में उनका हर पक्ष से पूरा निश्शुल्क इलाज किया जा रहा है और हर पक्ष से ख्याल रखा जा रहा है। उनका एक भी पैसा इलाज पर नहीं लगा।

जल्द ही घुटनों व जोड़ों के आपरेशन होंगे शुरू

सिविल सर्जन डॉ. मुल्तानी ने कहा कि आयुष्मान भारत सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना अंतर्गत जिला फाजिल्का के सभी सरकारी अस्पतालों और 9 प्राइवेट अस्पतालों में 5 लाख रुपए तक का वार्षिक परिवार के बीमे का लाभ उठाया जा सकता है। डा. मुलतानी ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों में आपरेशन, आंखों का इलाज (आपरेशन) आदि तो किया ही जा रहा हैं और जल्द ही भविष्य में फाजिल्का में घुटनों और जोड़ों के आपरेशन भी शुरू किए जा रहे हैं, इस कारण डा. मुलतानी ने अपील करते हुए कहा कि नजदीक के सरकारी अस्पताल, मंजूरशुदा प्राइवेट अस्पताल, कोमन सर्विस सेंटर, वीएलई से यह कार्ड बनवाए जा सकते हैं। इस मौके पर सीनियर मेडिकल अधिकारी फाजिल्का डा. सुधीर पाठक, संदीप कौर, अलय बत्रा और मास मीडिया अधिकारी अनिल धामू उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!