संवाद सूत्र, फाजिल्का : जब से गेहूं का सीजन शुरू हुआ है, तब से किसानों व आढ़तियों के सिर से चिता के बादल छंटे नहीं है, जबकि चार दिन पहले हुई बूंदाबांदी के बाद मंगलवार को 15 से 20 मिनट की बारिश ने खुले आसमान के नीचे पड़ी गेहूं की ढेरियों को भीगो दिया, जिस कारण जो गेहूं तो खरीद ली गई है, उसके लिए आढ़तियों और जो अभी खरीदनी बाकी है, उसके लिए किसानों को परेशान होना पड़ेगा।

फाजिल्का की मंडियों में चार दिन से लिफ्टिग प्रक्रिया शुरू तो हो गई है, लेकिन अभी लिफ्टिग प्रक्रिया ने रफ्तार नहीं पकड़ी। मंडियों 100193 एमटी गेहूं की आवक हुई है, जबकि 4100 एमटी गेहूं की खरीद की गई है। जबकि कुल खरीद 90958 एमटी हुई है। इसके अलावा कुल लिफ्टिग 19385 एमटी गेहूं की हुई है। यानि अभी भी 71573 एमटी गेहूं लिफ्टिग के इंतजार में मंडियों में पड़ा हुआ है। गांव केरियां से पहुंचे जसविद्र सिंह ने बताया कि सुबह ही वह गेहूं की फसल काटकर मंडी में लेकर आया है। लेकिन जब वह गेहूं के बिकने का इंतजार कर रहा था तो अचानक बारिश के कारण उसकी फसल भीग गई, जिस कारण अब उसे मंडी में बैठने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

उधर, डिप्टी कमिशनर अरविन्द पाल सिंह संधू ने बताया कि जिला फाजिल्का की मंडियों में किसानों के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। मंडियों में सैनिटाइजर मशीनों, किसानों को मास्क मुहैया करवाने और बार -बार हाथ धोने के लिए साबुन, पानी, शौचालय आदि के इंतजाम किए हुए हैं। खरीद एजेंसियों को हिदायत की गई है फसल खरीदने से ले कर, फसल की लिफ्टिग और अदायगी और बारदाने संबंधी किसानों को कोई मुश्किल पेश न आने दी जाए। जिले की मंडियों में हुई 218548 एमटी आवक

जिला फूड सप्लाई कंट्रोलर गुरप्रीत सिंह कंग ने बताया कि इस सीजन के दौरान बीते दिन तक मंडियों में पहुंची 218548 मीट्रिक टन गेहूं में से 203987 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है जिसमें से पनग्रेन की तरफ से 51828 मीट्रिक टन गेहूं, मार्कफैड की तरफ से 57151 मीट्रिक टन गेहूं, पनसप की तरफ से 54575 मीट्रिक टन गेहूं, एफ.सी.आई. की तरफ से 12489 मीट्रिक टन गेहूं और पंजाब वेयरहाऊस की तरफ से 27944 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप