दीपक सूद ,फतेहगढ़ साहिब: गांव तलानियां में अंतरराष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें काफी संख्या में लोगों ने शिरकत की। इस मौके पर नशे को समाज से खत्म करने और लोगों को जागरूक करने के लिए प्रण भी लिया गया। इस मौके गांव तलानिया से एक बरात में घोड़ी चढ़ते दूल्हे लवप्रीत सिंह पुत्र अमरीक सिंह ने भी नशा विरोधी दिवस पर लोगों को जागरूक किया। लवप्रीत सिंह ने कहा कि नशा हमारे समाज को कैंसर की तरह अंदर ही अंदर से खोखला कर रहा है। इसलिए हमें एकजुट होकर नशे को जड़ से खत्म करना चाहिए। इस कार्यक्रम में भाग लेने के चलते बारात थोड़ा लेट भी हो गई थी पर लवप्रीत सिंह ने कहा कि नशे के खिलाफ आयोजित करवाए प्रोग्राम में भाग लेना उसे बहुत अच्छा लगा।

-------------------------

नशा समाज को जंग की तरह खा रहा है

इस मौके पर एसपी नवरीत सिंह विर्क ने कहा कि नशा समाज को जंग की तरह खा रहा है। बच्चों व नौजवान पीढ़ी को नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित करने के लिए हमें एक मंच पर एकजुट होना चाहिए। नशे से केवल बर्बादी होती है और इसको रोकने के लिए बड़े स्तर पर प्रयास करना समय की जरूरत है। समाजिक बुराइयों का खात्मा अपने आसपास जागरूकता फैलाकर ही किया जा सकता है। नशे की गिरफ्त में फंसे लोग न केवल आर्थिक तौर पर कमजोर हो जाते हैं बल्कि समाजिक तौर पर भी उनकी जिदगी बर्बाद हो जाती है। इसलिए खुद नशे से दूर रहने के साथ-साथ अन्य को भी नशीले पदार्थों के सेवन से रोककर अच्छा नागरिक बनना चाहिए। विर्क ने बताया कि नशे का सेवन नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है। नर्वस सिस्टम कमजोर होने पर मस्तिष्क क्षतिग्रस्त हो जाता है और अनेक असाध्य रोग हो सकते हैं। समाज में अधिकांश व्यक्तियों में आर्थिक असुरक्षा व संतुष्टि का अभाव के कारण लोगों में मानसिक तनाव हो जाता है, जिससे मुक्ति पाने के लिये लोग विभिन्न प्रकार के नशीले पदार्थों का सेवन करने लगते हैं। धीरे-धीरे चलकर ऐसे व्यक्ति भयंकर नशे के आदी हो जाते है। सबसे चितन का विषय यह है कि 16 वर्ष की आयु वर्ग के बालको में शराब, नशीली गोलियां कप सीरप आदि के नशे के रूप में सेवन की प्रवृत्ति बढी है। ऐसी स्थिति में बच्चों के अभिभावकों को विशेष ध्यान देने व संवाद बनाने के अतिरिक्त निगरानी भी जरूरी है। हर साल 26 जून को विश्व मादक द्रव्य निषेध दिवस मनाती है। इसका मकसद ड्रग्स की लत और इसके दुष्प्रभावों से होने वाली मौतों से लोगों को बचाना है और जागरूक करना है। इस मौके पर एसपी नवरीत सिंह विर्क के साथ डीएसपी मनजीत सिंह, थाना फतेहगढ़ साहिब के मुखी संदीप सिंह व सरहिद पुलिस चौकी के इंचार्ज मनदीप सिंह मौजूद थे।

Edited By: Jagran