जागरण संवाददाता. फतेहगढ़ साहिब : शिरोमणि अकाली दल (बादल) के जनरल इजलास में 14 अक्टूबर को नया पार्टी अध्यक्ष चुनने की केवल खानापूर्ति ही होगी। अंदरखाते पार्टी नेताओं ने डेलीगेट्स के रूप में मौजूदा अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल को ही वोट देने का मन ही नहीं बनाया, बल्कि वे खुलेआम इसकी घोषणा भी कर रहे हैं।

नेताओं की इस घोषणा से पार्टी की चयन प्रक्रिया पर भी सवाल उठ रहे हैं। सोमवार को फतेहगढ़ साहिब में हलका प्रभारी दीदार सिंह भट्टी के निवास स्थान पर वर्करों के साथ बैठक करने आए जिले के पर्यवेक्षक व पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा ने तो मंच से ही ऐलान कर दिया कि उनका वोट केवल सुखबीर सिंह बादल को होगा।

इसके बाद वहां मौजूद नेताओं व वर्करों ने भी हाथ खड़े करते हुए सुखबीर बादल के नाम पर सहमति जता दी। पूर्व सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा के शिअद (टकसाली) में जाने की चर्चाओं पर रखड़ा ने कहा कि ढींढसा दो-चार दिनों में उनके साथ ही दिखाई देंगे। आप देखते जाओ। वे ढींढसा को कहीं नहीं जाने देंगे। हलका प्रभारी दीदार सिंह भट्टी ने वर्करों को कांग्रेस सरकार की नाकामियों को लोगों तक पहुंचाने के लिए कहा। इस अवसर पर अमलोह हलका प्रभारी गुरप्रीत सिंह राजू खन्ना, नगर कौंसिल सरहिद के अध्यक्ष शेर सिंह मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!