जासं, फरीदकोट : कोरोना महामारी का प्रकोप कम जरूर हुआ, पंरतु महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। पिछले 48 घंटे में जिलेभर में महामारी की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत हो गई जबकि 69 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। शुक्रवार को आई कोरोना रिपोर्ट में जिले मे 30 लोग संक्रमित पाए गए, जबकि एक व्यक्ति की मृत्यु हुई। महामारी का प्रकोप शहरों की अपेक्षा अब ग्रामीण हिस्सों में ज्यादा दिखाई दे रहा है। इसके पीछे का बड़ा कारण ग्रामीणों द्वारा समय से महामारी की जांच न करवाया जाना है। जब महामारी विकराल रूप धारण कर लेती है तो उस समय बचाव थोड़ा मुश्किल साबित होता है। हालांकि जिला प्रशासन द्वारा गांवों को कोरोना मुक्त बनाए जाने के लिए व्यापक अभियान छेड़ा गया है। सिविल सर्जन डा. संजय कपूर ने जिले के लोगों से कोरोना सैंपलिग व वैक्सीनेशन में सहयोग देने की अपील की है। मुक्तसर में कोरोना से दो की मौत, 26 नए केस मिले, 27 ने दी मात

वहीं श्री मुक्तसर साहिब में जिले में शुक्रवार को एक बार फिर से कोरोना से दो की मौत हो गई तथा 26 नए केस मिले। इसके अलावा 27 ने कोरोना को मात दी है। सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला ने बताया कि शुक्रवार को मलोट में एक तथा गांव लक्खेवाली में एक कोरोना मरीज की मौत हो गई है। इसके अलावा नए मरीजों में मुक्तसर में एक, मलोट में दो, गिद्दड़बाहा में चार, लुंडेवाला में दो, कोटली में एक, काऊनी में एक, दोदा में एक, लंबी में एक, सरावांबोदला में एक, पन्नीवाला में एक, फरीदखेड़ा में एक, कंदूखेड़ा में एक, उदयकरण में एक, चक तामकोट में एक, चक बीड सरकार में एक, वड़िंग में एक, मेहना खेड़ा में दो, जंडवाला में एक, कराईवला में एक, लक्खेवाली में एक मरीज मिला है। सिविल सर्जन ने बताया कि जिले में अब तक 18450 लोग कोरोना से पाजिटिव हो चुके हैं। 17673 लोगों ने कोरोना को मात दी है। 510 लोगों की कोरोना से मौत भी हो चुकी है। जिले में अब कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 267 है।

Edited By: Jagran