चंडीगढ़, जेएनएन। वाहनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए शहर में अंडरपास और फ्लाईओवर जैसे विकल्पों की जरूरत पड़ने लगी है। पीजीआइ राउंडअबाउट पर अंडरपास बनाने को मंजूरी मिलने के बाद डिजाइनिंग पर काम चल रहा है। अब प्रशासन ट्रैफिक फ्लो को देखते हुए पूरे शहर का सर्वे करवाने जा रहा है। यह सर्वे अंडरपास के लिए होगा। किस किस चौक या रोड पर अंडरपास बनाने की जरूरत है, अर्बन प्लानिंग और इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट मिलकर इसका सर्वे करेंगे।

सर्वे पूरा होने के बाद जो स्थान चिह्नित होंगे, उनका प्रस्ताव तैयार होगा। दरअसल ट्रैफिक बढ़ने से रोड पर पेडस्ट्रेयन को निकलने का समय ही नहीं मिलता है। मध्य मार्ग, दक्षिण मार्ग सहित सभी प्रमुख मार्ग इसी समस्या से जूझ रहे हैं। मध्य मार्ग और दक्षिण मार्ग पर तो वाहनों की कतार टूटती ही नहीं है। इसको देखते हुए अंडरपास के लिए सर्वे होगा। चंडीगढ़ के मास्टर प्लान में फ्लाईओवर का प्रावधान नहीं है। इसी वजह से ट्रिब्यून चौक पर बनने वाला फ्लाईओवर भी अटक गया है। लेकिन अंडरपास इसके आड़े नहीं आता है। इसी वजह से प्रशासन कंजेशन वाली जगहों पर अंडरपास को बेहतर विकल्प मान रहा है।

पहले नौ अंडरपास नहीं बने

इससे पहले भी नौ जगह पर अंडरपास बनाने का प्लान तैयार किया गया था। शहर के अलग-अलग हिस्सों में यह अंडरपास बनाए जाने थे। लेकिन कई सालों की माथापच्ची के बाद यह खारिज कर दिए गए। अभी चंडीगढ़ में सेक्टर-11-15 चौक पर अंडरपास बनाया गया है। जो सफल रहा है। इसी की तर्ज पर दोबारा से दूसरे चौक पर भी अंडरपास बनाने की प्लानिंग शुरू की गई है। वहीं पीजीआइ अंडरपास के डिजाइन में बदलाव किया जा रहा है। इसमें शॉप्स भी होंगी। इसमें मेडिकल शॉप के साथ खान-पान की दुकानें भी होंगी। जिससे यह इस तरह का पहला अंडरपास होगा।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!