जागरण संवादददाता, चंडीगढ़ : हौसलों बुलंद हो तो मंजिल आसान हो जाती है। इस बात को यथार्थ कर दिखाया है क्रिकेटर पारस ने। पारस यूटीसीए की अंडर-16 टीम के उपकप्तान हैं। हाल में बीसीसीआइ की तरफ से आयोजित विजय मर्चेट ट्रॉफी में पारस ने अपने शानदार प्रदर्शन से सबका ध्यान आकर्षित किया है। उन्होंने टूर्नामेंट के हर मैच में अपनी गेंदबाजी और बल्लेबाजी से टीम के लिए अहम भूमिका निभाई। विजय मर्चेट ट्रॉफी में पारस लिए कुल 22 विकेट

पारस ने विजय मर्चेट ट्रॉफी में यूटीसीए की तरफ से खेलते हुए ऑलराउंडर कैटेगरी में टॉप पोजीशन हासिल की। पारस ने इस पूरे टूर्नामेंट में 22 विकेट और 188 रन बनाए। यूटीसीए की अंडर-16 आयुवर्ग की टीम के वाइस कैप्टन पारस लेफ्ट आर्म स्पिनर हैं और उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है। इसके अलावा उन्होंने अपने बल्ले से भी कई मौकों पर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। पीसीए की अंडर-14 टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं पारस

पारस पीसीए की अंडर-14 टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं। पारस ने पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन की तरफ से आयोजित अंडर-14 इंटर टूर्नामेंट में चंडीगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन -पंजाब की तरफ से हिस्सा लेते हुए शानदार प्रदर्शन किया था। इसके अलावा इंटर डिस्ट्रिक्ट अंडर-14 में पारस ने 28 विकेट और 170 रन बनाए थे। इस टूर्नामेंट में वह बतौर कप्तान टीम में खेले थे। काफी मेहनती है पारस

पारस को कोच नागेश गुप्ता और जसवंत राय ने बताया कि पारस काफी मेहनती है। छोटी सी उम्र में उसे क्रिकेट की अच्छी समझ है। वह हर गेंद काफी सोच समझकर डालता है। बल्लेबाजी में भी उसका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। उम्मीद है कि आने वाले समय में उसका खेल और निखरेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!