चंडीगढ़, जेएनएन। यूटी प्रशासन में अब फाइल लंबे समय तक होल्ड नहीं होगी। कर्मचारियों पर काम का बोझ भी कम हो जाएगा। जो ब्रांच लंबे समय से स्टाफ की कमी से जूझ रही थी। अब उनमें यह दिक्कत नहीं रहेगा। इसका कारण यह है कि यूटी प्रशासन को 360 नए क्लर्क मिल गए हैं। प्रशासन के 38 अलग-अलग डिपार्टमेंट में इन्हें नियुक्त किया गया है। इससे इन सभी विभागों में स्टाफ की शॉर्टेज अब काफी हद तक कम हो गई है। क्लेरिकल स्तर पर अब काम में पहले जितनी देरी नहीं होगी। हालांकि अभी नए भर्ती स्टाफ को काम सिखाया जाएगा, लेकिन पुराने स्टाफ को हेल्पिंग हैंड मिल गए हैं। अभी तक यह आरोप कई बार लगते रहे हैं कि बाबू फाइल को दबाकर बैठे हुए हैं। वह उसे आगे ही नहीं बढ़ाते। लेकिन अब नए स्टाफ के बाद उनके पास स्टाफ की कमी का बहाना नहीं रहेगा।

एडवाइजर ने कराई ज्वाइनिंग

लंबे इंतजार के बाद ही सही आखिर यूटी प्रशासन को 360 नए क्लर्क मिल गए हैं। सोमवार को एडवाइजर मनोज कुमार परिदा ने पांच कैंडीडेट को अपॉइंटमेंट लेटर जारी कर औपचारिक ज्वाइनिंग कराई। कोरोना महामारी में विभिन्न तरह की पाबंदियों के बाद भी यूटी प्रशासन ने क्लर्क भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर ली है। सभी को अपॉइंटमेंट लेटर और पोस्टिंग ऑर्डर जारी कर दिए हैं। एक औपचारिक कार्यक्रम में पर्सोनल सेक्रेटरी एसएस गिल, स्पेशल सेक्रेटरी पर्सोनल नीतिका पंवार की मौजूदगी में एडवाइजर ने ज्वाइनिंग लेटर जारी किए। एडवाइजर मनोज परिदा ने पंजाब यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड मैनेजमेंट साइंसेज का पारदर्शिता के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने गवर्नमेंट मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल-16 का भी आभार व्यक्त किया। जिन्होंने कोरोना वर्कलोड के बाद भी मेडिकल एक्जामिनेशन कंडक्ट किया। प्रशासन के अलग-अलग 38 डिपार्टमेंट में इन 360 कैंडीडेट को पोस्टिंग दी गई है।

निकलेंगी बड़े स्तर पर भर्ती

प्रशासन के विभागों में अभी भी अलग-अलग केटेगरी के बहुत से पद खाली हैं। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने पर्सोनल डिपार्टमेंट को आदेश दिए हैं कि सभी रिक्त पद वरियता आधार पर भरे जाएं। साथ ही जो भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हुई हैं उनको भी अब तेजी से पूरा किया जाए। बता दें कि पिछले काफी दिनों से क्लर्क और स्टेनो टाइपिस्ट के पदों पर अपॉइंटमेंट के लिए लगातार कैंडीडेट मांग कर रहे थे।

Edited By: Vinay Kumar