जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : सुखना की खासियत है कि यहां हर वर्ग के लोग सुबह-सुबह मॉर्निग वॉक के लिए पहुंचते हैं। इसमें इंडस्ट्रिलिस्ट, बिजनेसमैन व राजनीतिज्ञ शामिल हैं। ऐसा ही एक खास चेहरा जो रोजाना सुबह सुखना लेक पर देखा जाता है, वो है पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल का। पिछले 30 वर्ष से निरंतर ये सुखना लेक में मॉर्निग वॉक के साथ अपने दिन की शुरूआत करते हैं। शुक्रवार को अपनी पत्नी मधु बंसल के साथ वह सुखना लेक पर वॉक करने पहुंचे, तो उन्होंने अपनी दिनचर्या और सुखना लेक में रोजाना आने पर चर्चा की। बोले कि ये लेक एक ऐसी जगह है, जहां आप सारे शहर से मिल लेते हैं। पिछले 30 वर्ष से निरंतर यहां आता रहता हूं, कितने ही लोग मिलते हैं, दोस्त, अजनबी और चिर परिचित चेहरे। कुछ लोगों को तो नाम से भी नहीं जानता, मगर रोजाना मिलते हैं, हाथ मिलाते हैं और गुड मॉर्निग कहकर हम आगे निकल जाते हैं। मेरे अनुसार शहर से जुड़ने का ये सबसे बेहतर तरीका है कि हम लोगों के साथ उनकी जीवनशैली को एंजॉय करें। मैं रोजाना सुबह 6.00 बजे तक उठता हूं, इसके बाद कुछ देर अखबार पढ़ता हूं, इन दिनों करीबन 7.00 बजे सुखना लेक पर पहुंच जाता हूं। करीबन आधा घंटा यहां गुजारकर घर में अपने जिम में कुछ देर एक्सरसाइज करता हूं। इसके बाद फिर से अखबार पढ़कर दिन का प्लान बनाता हूं। दिन भर मीटिंग और कार्य तो रहते हैं, मगर रात को एक तय समय पर सोने की कोशिश करता हूं, ताकि अगले दिन फिर से सुखना लेक से अपना दिन शुरू कर सकूं। मेरे अनुसार सभी लोगों को अपने दिन की शुरुआत मॉर्निग वॉक से ही करनी चाहिए, ये पूरे दिन आपको तंदुरुस्त रखता है।

Posted By: Jagran