वैभव शर्मा, चंडीगढ़

पंजाब यूनिवर्सिटी के केमिस्ट्री विभाग में सेनिटाइजर बनाया जा रहा था। लेकिन अब यह कार्य अधर में लटक गया है। दरअसल, सेनिटाइजर बनाने में प्रयोग होने वाला एल्कोहल खत्म हो चुका है। इसकी वजह से सेनिटाइजर का निर्माण नहीं हो पा रहा है। विभाग के डॉ. रोहित कुमार शर्मा और उनकी टीम सेनिटाइजर बनाने में जुटी हुई थी। सेनिटाइजर बनाकर कैंपस के लोगों में बांटा जाना था। सुरक्षाकर्मियों से लेकर कैंपस में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और वहां के निवासियों में हैंड सेनिटाइजर बांटा जा रहा था।

पीयू वीसी प्रोफेसर राजकुमार ने इस काम की तारीफ करते हुए कहा था कि नो प्रॉफिट नो लॉस पर सेनिटाइजर बाहर भी लोगों को दिया जाएगा। लेकिन अब एल्कोहल खत्म होने के कारण न तो सेनिटाइजर बनाया जा रहा है और न ही एल्कोहल मंगवाने का कोई रास्ता दिख रहा है।

एल्कोहल सप्लाई पर है रोक

क‌र्फ्यू और लॉकडाउन की वजह से पूरे देश में एल्कोहल की सप्लाई पर रोक लगी हुई है। ऐसे में न तो पीयू प्रशासन एल्कोहल मंगवा सकता है और न ही सेनिटाइजर को बनाया जा सकता है।

सेनिटाइजर बनाने के लिए एल्कोहल अहम

डॉ. रोहित ने कहा कि सेनिटाइजर बनाने में एल्कोहल बहुत महत्वपूर्ण होता है। जो सेनिटाइजर हमने पहले बनाया था उसमें तकरीबन 60 प्रतिशत एल्कोहल का प्रयोग किया था।

अन्य केमिकल का भी अभाव

देश में लगे क‌र्फ्यू की वजह से जहां एल्कोहल की सप्लाई ठप पड़ी है। वहीं अन्य केमिकल का अभाव भी है। फरवरी से ही केमिकल की सप्लाई कम हो गई थी। इसके बाद मार्च में जो केमिकल के ऑर्डर दिए गए थे वह भी नहीं आए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!