कालका/पिंजौर। कालका रेलवे स्टेशन से चंडीगढ़ साइड के लिए रवाना हुए एक ट्रेन का इंजन बुधवार सायं करीब पौने पांच बजे चंडी मंदिर के पास पटरी से उतर गया। हादसे में इंजन के पायलट सहित तीन रेल कर्मचारी घायल हो गए। हादसे में ट्रेन चालक को ज्यादा चोटें आई हैं। तीनों को फिलहाल पंचकूला के सेक्टर-6 स्थित सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

कालका रेलवे स्टेशन से एक इंजन चंडीगढ़ साइड के लिए रवाना हुआ था। इंजन में पायलट सहित सहायक पायलट व गार्ड सवार थे, लेकिन चंडी मंदिर के पास बीच रास्ते में इंजन पटरी से नीचे उतर गया और कई दूर तक पटरी को क्षतिग्रस्त करते हुए इंजन के पहिए जमीन में धंस गए। इस घटना की सूचना मिलते ही रेलवे विभाग में कालका से लेकर अंबाला तक हलचल मच गई और हालात का जायजा लेने के लिए एक के बाद एक कई टीमों सहित अंबाला मंडल के डीआरएम सहित कई बड़े अधिकारी भी मौके पर पहुंचे।

देर रात तक विभाग की टीमें इस घटना के कारणों का पता लगाने में जुटी हुई है। वहीं, इंजन में सवार तीनों घायलों को पंचकूला के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस दौरान रेड सिगनल होने की बात भी सामने आ रही है और तकनीकी खराबी भी संभावना जताई जा रही है, लेकिन जांच पूरी होने के बाद ही घटना के कारणों का पता लग सकेगा।

बताया जा रहा है कि इंजन के ड्राइवर श्रीकांत सहित चार लोग इंजन में सवार थे। घटना में किसी राहगीर को कोई चोट नहीं आई है। घटना की सूचना मिलते ही रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे। दु्र्घटना की जांच की जा रही है।  अधिकारियों द्वारा इंजन के पटरी से उतरने के कारणों के बारे में पता लगाया जाएगा। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि हादसे की मुख्य वजह क्या रही। यह इंजन 4:30 पर चला था और 4:54 पर हादसे का शिकार हो गया।

Edited By: Kamlesh Bhatt