जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : एक पिस्टल, एक कट्टा और छह कारतूस के साथ मंगलवार रात गिरफ्तार दो आरोपितों के तीसरे साथी को भी आपरेशन सेल की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। तीसरे आरोपित करनाल निवासी मनोज से भी पुलिस ने एक कट्टा बरामद किया है। वहीं, पहले गिरफ्तार दोनों आरोपित कांसल के कृष्ण और प्रमोद को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। यहां से कृष्ण का एक दिन का रिमांड लिया और प्रमोद को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार आरोपित पहले हरियाणा में सक्रिय एक गिरोह के सदस्य रह चुके हैं। इससे पहले दोनों आरोपित कृष्ण और प्रमोद की 2018 में गांव पपलोबा के रहने वाले विक्की उर्फ कम्मी की हत्या में गिरफ्तारी हुई थी। दोनों अक्टूबर 2020 में जमानत पर बाहर आए थे। वहीं, प्रमोद उर्फ राजू के खिलाफ चार केस दर्ज हैं। इसमें सेक्टर-3 थाना पुलिस ने हत्या की कोशिश, सरकारी ड्यूटी में बाधा, आ‌र्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज होने के साथ मोबाइल चोरी और दो शराब तस्करी के मामले शामिल हैं। इस तरह हुई गिरफ्तारी

नगर निगम चुनाव पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर डीजीपी प्रवीर रंजन के निर्देशानुसार आपरेशन सेल इंचार्ज अमनजोत सिंह टीम के साथ पेट्रोलिग कर रहे थे। एक सूचना के आधार पर मनीमाजरा अस्पताल के समीप कृष्ण और सेक्टर-26 वाटर वर्कर्स कालोनी के सामने प्रमोद को पिस्टल, कट्टा और कारतूस के साथ काबू किया। आरोपितों की निशानदेही पर दूसरे दिन तीसरे आरोपित मनोज को काबू किया गया।

Edited By: Jagran