जेएनएन, चंडीगढ़। राफेल विमान सौदे के मामले में राजनेताओं के बयान भी खूब उड़ान भर रहे हैं। कांग्रेस के पंजाब प्रधान व गुरदासपुर से सांसद सुनील जाखड़ भी इस मामले में सरकार व रिलायंस ग्रुप के सर्वेसर्वा अनिल अंबानी पर चुटीले अंदाज में शब्दबाण चला रहे हैं। सौदे में रिलायंस ग्रुप की भूमिका को लेकर संसद के बाद अब जाखड़ ने पंजाब में भी कागज का जहाज उड़ाकर दिखाया।

जाखड़ समेत कई कांग्रेस नेताओं को भेजा है नोटिस

दरअसल, राफेल विमान खरीद मामले पर कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी को लेकर रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने सुनील जाखड़  व रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत कई नेताओं को नोटिस भेजा है। इस पर जाखड़ ने ट्विटर पर अपनी एक फोटो शेयर कर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, राफेल साैदे को लेकर रिलायंस ग्रुप से सीज एंड डेसिस्ट का कानूनी नोटिस मिला है। मि. अनिल अंबानी, मैं दोहराता हूं कि मैं अापसे अच्छा जहाज बना सकता हूं। जैसा कि लोकसभा में दिखा चुका हूं।

सुनील जाखड़ का ट्वीट।

राष्ट्रीय सुरक्षा बच्चों का खेल नहीं

चंडीगढ़ में पंजाब भवन में पत्रकारों से बातचीत के दौरान जाखड़ ने अंबानी के नोटिस के जवाब में 'कागजी जहाज' बनाकर इस बात के संकेत दिए कि इस नोटिस को वह हवा में उड़ा देंगे। बातों बातों में उन्होंने कागज का जहाज बनाया और उसे हवा में उड़ा दिया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा बच्चों का खेल नहीं है।

उद्योगपति के माध्यम से लोकतंत्र की आवाज को दबाने की कोशिश

सांसद जाखड़ ने नोटिस पर केंद्र सरकार को लपेटते हुए कहा कि मोदी सरकार उद्योगपति के माध्यम से लोकतंत्र की आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है। यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है। केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने अनिल अंबानी को कांट्र्रैक्ट दिया, जबकि अंबानी को जहाज बनाने का कोई अनुभव ही नहीं है। उनकी कंपनी रिलायंस डिफेंस लिमिटेड राफेल डील से मात्र 13 दिन पहले ही रजिस्टर्ड हुई थी।

उद्योगपति घराने ने पहली बार की ऐसी कोशिश

बकौल जाखड़, 'ऐसा पहली बार हुआ जब उद्योगपति घराने ने लोकतंत्र की आवाज को दबाने की कोशिश की है। अनिल अंबानी ने जनता के चुने हुए नुमाइंदे को नोटिस भेजकर यह कोशिश की है।, वहीं, जाखड़ ने कागज का जहाज बना कर स्पष्ट रूप से संकेत दे दिए कि कानूनी नोटिस का यही जवाब है।

यह चेतावनी है अनिल अंबानी के नोटिस में

सुनील जाखड़ को भेजे गए नोटिस में रिलायंस ग्रुप ने कहा है कि उनके (जाखड़) आरोप तथ्यों पर आधारित नहीं हैं। ये आरोप विरोधियों के दुष्प्रचार से प्रेरित लगते हैं। वह अपने आरोप वापस लें या कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहें।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt