चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब यूनिवर्सिटी में लड़ाई झगड़े के घटना दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। इन घटनाओं पर ना तो पीयू प्रशासन अंकुश लगा पा रहा है और ना ही पुलिस। वीरवार को पंजाब यूनिवर्सिटी स्टूडेंट सेंटर के पीछे बनी पार्किंग में स्टूडेंट्स और सिक्योरिटी गार्ड के बीच में जमकर हाथापाई हुई। झगड़ा पार्किंग को लेकर हुआ। सिक्योरिटी गार्ड ने स्टूडेंट्स को अपना वाहन सही जगह पार्क करने के लिए कहा था। इस बात को लेकर स्टूडेंट्स के एक गुट ने सिक्योरिटी गार्ड के थप्पड़ मारे जिसके बाद गार्ड्स ने मिलकर स्टूडेंट की पिटाई कर दी।

हालत गंभीर होते देख पुलिस चौकी पीयू से पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। सभी स्टूडेंट्स और सिक्योरिटी गार्ड्स को चौकी ले जाया गया। हेड कांस्टेबल नंदकिशोर ने बताया कि जिन स्टूडेंट्स ने मारपीट की है वे पीयू के ह्यूमन राइट्स विभाग के स्टूडेंट हैं। उन्होंने बताया कि एक स्टूडेंट ने अपनी कार गलत पार्क की थी।

सिक्योरिटी गार्ड ने उसे अपनी गाड़ी सही तरह पार्क करने के लिए कहा। इस पर स्टूडेंट ने सिक्योरिटी गार्ड के थप्पड़ जड़ दिया। जब सभी स्टूडेंट्स और सिक्योरिटी गार्ड को पुलिस चौकी लाया जा रहा था तब भी वह स्टूडेंट अकड़ दिखा रहा था। चौकी में जब दोनों गुटों पर पर्चा दर्ज करने की बारी आई तो सभी ने समझौता करने का फैसला किया।

सिक्योरिटी गार्ड ने कहा- जान से मारने की धमकी तक देते हैं छात्र

इस घटना से यह सवाल खड़े हो रहे हैं कि जब कैंपस में सिक्योरिटी गार्ड ही सुरक्षित नहीं है तो स्टूडेंट्स की जिम्मेदारी किसकी होगी। सिक्योरिटी गार्ड कमलेश ने बताया कि यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी स्टूडेंट्स द्वारा सिक्योरिटी गार्ड को गालियां देने और उनके साथ गलत व्यवहार करते रहे हैं। हैं। गलत पार्किंग या गलत काम करने से रोकने पर स्टूडेंट्स उन्हें जान से मारने की धमकी तक दे देते हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!