जेएनएन, चंडीगढ़। श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के लिए समर्पित पंजाब विधानसभा का विशष सत्र 6 नवंबर को गया। सत्र से पहले सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष राणा केपी सिंह ने विधानसभा उपचुनाव में जीते तीन विधायकों जलालाबाद के रमिंदर आंवला, मुकेरियां की रेणु बाला, फगवाड़ा के बलविंदर सिंह धालीवाल को पद की शपथ दिलाई। इस मौके पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ भी मौजूद रहे। 

बता दें, इस विशेष सत्र में पंजाब ने हरियाणा के विधायकों को भी आमंत्रित किया है। ऐसा 53 साल के बाद होगा, जब दोनों राज्यों के प्रतिनिधि एक साथ विधानसभा में बैठेंगे। पंजाब पुनर्गठन एक्ट 1966 में लागू हुआ था। इस एक्ट के तहत दोनों राज्य अलग हुए थे। यह सत्र इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों राज्यों के बीच कई मुद्दों पर मतभेद हैं।

पंजाब विधानसभा के विशेष सत्र की अध्यक्षता उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू करेंगे। सत्र में उपराष्ट्रपति के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह, पंजाब के राज्यपाल बीपी सिंह बदनौर भी हिस्सा लेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!