चंडीगढ़, जेएनएन। अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद चंडीगढ़ में भी हाई अलर्ट कर दिया गया है। सभी डिवीजन के डीएसपी और थाना प्रभारियों की ड्यूटी लगाई गई है। उनका काम अपने एरिया में रहने वाले लोगों के साथ मीटिंग करने और उन्हें शांति व्यवस्था बनाने का है। यूटी में पुलिस विभाग को केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से शांति व्यवस्था बनाए रखने का पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

खुद डीजीपी और एसएसपी शहर की पल-पल की स्थिति की पूरी जानकारी ले रहे हैं। शरारती तत्वों और बवालियों की हरकतों पर निगाहबानी की जा रही है। इसके अलावा मंदिर और मस्जिदों पर होने वाली हर गतिविधियों पर नजर रखते हुए तत्काल सूचना देने के निर्देश दिए गए हैं।

गाैरतलब है कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ ने शनिवार को सर्वसम्मति से ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। कोर्ट ने विवादित भूमि पर मंदिर बनाने के लिए सरकार को आदेश दिया है। वहीं, मुस्लिम पक्ष के लिए अयोध्या में पांच एकड़ वैकल्‍प‍िक जमीन सुन्नी वक्‍फ बोर्ड को दी जाएगी।

सीसीटीवी के माध्यम से पल-पल की हरकतों पर निगाहें

सीसीटीवी के माध्यम से पल-पल की हरकतों पर निगाहें रखी जा रही हैं। इसके साथ ही सभी थानों को निर्देश दिए गए हैं कि पीस कमेटी की मीटिंग करके शांतिपूर्ण व्यवस्था बनाए रखें। शरारती तत्वों को भी चिह्नित कर लिया गया है। 

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शहर के सभी डिवीजन अधिकारियों को अलर्ट किया गया है। पुलिस अधिकारी अपने एरिया में पब्लिक मीटिंग कर लोगों को शांति बनाए रखने के लिए आग्रह करें। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

-चरणजीत सिंह विर्क, डीएसपी एंड पीआरओ यूटी पुलिस

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!