जेएनएन, चंडीगढ़। चंडीगढ़ गोल्फ क्लब में मंगलवार शाम को सेकेंड जीव मिल्खा सिंह इंविटेशनल ट्रॉफी का इनोग्रेशन किया गया। इस दौरान पदमश्री जीव मिल्खा सिंह, पीजीटीआइ के सीईओ उत्तम सिंह मुंडे, चंडीगढ़ गोल्फ क्लब के कैप्टन एसपीएस मथारू, टेक सॉल्यूशन के वाइस चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर श्रीनिवासन एचआर, इंडोनेशिया के स्टार गोल्फर रोरी हॉ, टूर्नामेंट के पूर्व चैंपियन चिकारंगप्पा, अजितेश संधू और खलिन जोशी जैसे दिग्गज गोल्फर्स शामिल हुए।

पीजीटीआइ के सीईओ उत्तम सिंह मुंडे ने बताया कि बुधवार (16 अक्टूबर) से शुरू होने वाले टूर्नामेंट में 132 गोल्फर्स हिस्सा ले रहे हैं, इन खिलाड़ियों में डेढ़ करोड़ रुपये के इनाम वितरित किए जाएंगे। यह टूर्नामेंट बिल्कुल प्लास्टिक फ्री होगा। उन्होंने चंडीगढ़ गोल्फ क्लब के कैप्टन एसपीएस मथारू का शानदार गोल्फ कोर्स तैयार करने के लिए धन्यवाद दिया। टूर्नामेंट में शहर के आठ गोल्फर टूर्नामेंट में देशभर के नामी गोल्फर्स हिस्सा ले रहे हैं। प्रतियोगिता में जीव मिल्खा सिंह, ज्योति रंधावा, पिछले साल के चैंपियन चिकारंगप्पा, खलिन जोशी, अजितेश संधू, विराज मडप्पा, राशिद खान और रोरी हॉ जैसे नामी गोल्फर टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे हैं।

प्रतियोगिता में शहर के आठ खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं, इनमें जीव मिल्खा सिंह, युवा गोल्फर आदिल बेदी, करणदीप कोचर, अभिजीत सिंह चड्डा, युवराज सिंह संधू, हरेंद्र गुप्ता, अक्षय शर्मा और अजितेश संधू का नाम शामिल है। टूर्नामेंट में विदेशी गोल्फर ले रहे हिस्सा गोल्फर जीव मिल्खा सिंह ने कहा कि उन्हें खुशी है कि इस टूर्नामेंट ने तेजी से देश-दुनिया में नाम हासिल किया है। टूर्नामेंट की कामयाबी के पीछे दो चीजों का अहम योगदान है। इनमें एक तो चंडीगढ़ गोल्फ क्लब की खूबसूरती और दूसरा इसमें हिस्सा लेने वाले प्लेयर्स।

जीव मिल्खा सिंह ने बताया कि टूर्नामेंट इस बार इंडोनेशिया के स्टार गोल्फर रोरी हॉ भी हिस्सा ले रहे हैं। रोरी ने पिछले महीने एशियन टूर इवेंट जीता है। वहीं, बांग्लादेश के मोहम्मद जमाल हुसैन, श्रीलंका के अनुरा रोहाना, मिथुन परेरा और एन थेनेंराजा जैसे नामी गोल्फर हिस्सा ले रहे हैं।

जीव मिल्खा सिंह ने बताए टूर्नामेंट को जीतने के तीन मंत्र

जीव मिल्खा सिंह ने बताया कि किसी भी टूर्नामेंट को जीतने के लिए तीन मूल मंत्र है। इनमें डिस्टेंस कंट्रोल-इसमें आपको शॉट खेलने से पहले पता होना चाहिए कि कितनी जोर से हिट करना है, दूसरा ग्रीन स्पीड - आपको यह पता होना चाहिए कि कोर्स की कितनी ग्रीन स्पीड है। तीसरा कॉफिडेंस- हर खिलाड़ी जीत के इरादे से मैदान में उतरता है, लेकिन आपका आत्मविश्वास कितना मजबूत है, यह काफी अहम रहता है। यही आत्मविश्वास आपको जीत दिलाता है।

आसान नहीं है टूर्नामेंट जीतना : चिकारंगप्पा फ‌र्स्ट

जीव मिल्खा सिंह इंविटेशनल गोल्फ टूर्नामेंट के विजेता रहे चिकारंगप्पा ने बताया कि चंडीगढ़ गोल्फ क्लब में खेलना बेहद शानदार है, पिछली बार टूर्नामेंट में वह विजेता रहे थे। इस बार भी वह जीत के इरादे से गोल्फ कोर्स में उतरेंगे। उन्होंने बताया कि टूर्नामेंट में कई बड़े खिलाड़ी खेल रहे हैं, इसलिए टूर्नामेंट जीतना इतना आसान नहीं है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!