जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। 19 महीने के बाद चंडीगढ़ में सभी सरकारी और प्राइवेट प्राइमरी स्कूलों में कक्षाएं शुरू हो रही हैं। कोरोना महामारी की वजह से बंद पड़े प्राइमरी स्कूलों को अब 18 अक्टूबर खोलने का फैसला लिया गया है। स्कूल खुलने संबंधी निर्देश बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी प्रभजोत कौर ने शहर के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को जारी किए हैं। कोरोना आने के बाद पहली बार प्राइमरी क्लासेस के लिए स्कूल खोले जा रहे हैं। केंद्र और चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा सीनियर क्लासेस के लिए बनाई गाइडलाइंस को प्राइमरी स्कूलों में भी फॉलो किया जाएगा।

जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी निर्देशानुसार स्कूल में स्टूडेंट्स अभिभावकों की अनुमति से ही स्कूल आएंगे। कोई भी स्कूल जबरदस्ती स्टूडेंट्स को स्कूल नहीं बुला पाएगा। इसके साथ ही स्कूल में पढ़ाई आफलाइन के साथ आनलाइन भी जारी रहेगी ताकि जो स्टूडेंट्स स्कूल न आए वह घर से ही पढ़ाई पूरी कर सकें।

पहली से चौथी कक्षा के स्टूडेंट्स आएंगे 19 महीने बाद

18 अक्टूबर से खुल रहे स्कूल में पहली से चौथी क्लास के स्टूडेंट्स कोरोना की शुरुआत के बाद पहली बार स्कूल आएंगे। इससे पहले कोरोना महामारी के बाद नबंवर-2020 से फरवरी 2021 तक स्कूलों को नौवीं से 12वीं कक्षा के लिए खोला गया था। दूसरी लहर शांत होने के बाद अगस्त 2021 में पांचवी से आठवीं कक्षा के स्टूडेंट्स के लिए स्कूल को खोला गया था।

कोरोना नियमों का करना होगा पालन

प्राइमरी स्कूलों में स्कूल प्रबंधकों को कोरोना नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। स्कूल गेट पर स्टूडेंट्स की एंट्री तापमान चेक करने के बाद होगी। उसके बाद सेनिटाइजर की व्यवस्था स्कूल में जगह-जगह की जाएगी ताकि संक्रमण का कोई खतरा न बचे। इसके साथ ही क्लास में फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन कराने की जिम्मेदारी भी स्कूल प्रबंधन की होगी। यदि कोई स्टूडेंट्स किसी भी प्रकार से बीमार है तो उसे स्कूल आने की अनुमति नहीं होगी। स्टूडेंट्स को स्कूल आने से पहले मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

शहर में ऐसे खोले गए थे स्कूल

2 नवंबर 2020 में 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के लिए स्कूलों को खोला गया था। सरकारी स्कूलों में दो शिफ्टों में रेगुलर तौर पर पढ़ाई करवाई जा रही है। 19 जुलाई को 9वीं से 12वीं क्लास के लिए सभी गवर्नमेंट और प्राइवेट स्कूलों को खोला गया था। उसके बाद 9 अगस्त को 7वीं-8वीं क्लास के लिए शहर के सभी स्कूलों को खोला गया। इसके बाद सितंबर में 5वीं और 6वीं क्लास के के बच्चों को स्कूल बुलाया गया था। 

Edited By: Ankesh Thakur