मोहाली, जेएनएन। सोमवार को प्रशासन की सख्ती के बाद स्कूल बसों के काटे गए चालान के बाद स्कूल बस एसोसिशन का आरोप है कि उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है। उन्होंने दशहरा ग्राउंउ में 200 से ज्यादा बसों को रोककर पहले लौंगोवाल में हादसे का शिकार हुए बच्चों की श्रद्धांजलि अर्पित की और बाद में ट्रैफिक पुलिस प्रसाशन की कार्रवाई का विरोध करते हुए जमकर नारेबाजी की। एसोसिएशन के अध्यक्ष गुरशरण सिंह व अन्य ने कहा की लौंगोवाल हादसे की आड़ में सभी बस चालकों को बेवजह परेशान किया जा रहा है।

जांच के नाम पर उन्हें आधा-आधा घंटा सड़कों पर रोका जाता है, बल्कि बस चालकों और अटेंडेंस के साथ पुलिस का रवैया भी ठीक नहीं है। कागजात लेते समय उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि प्रसाशन ने सुनवाई ना की तो प्रदर्शन करने को मजबूर हो जाएंगे।

जबरदस्ती काटे जा रहे चालान

वहीं कई बस चालकों ने कहा की पुलिस की ओर से नाके लगातार जबरदस्ती स्कूल बसों को रोका जाता है। वर्दी होने के बावजूद जबरदस्ती चालान किए जा रहे हैं। जब पुलिस से बात की तो उनका कहना था कि हमे ऊपर से हुकम है कि स्कूल बसों के चालान करने हैं। वहीं दूसरी तरफ संगरुर के गांव लौंगोवाल में स्कूली बच्चों के साथ हुए दर्दनाक हादसे व मोहाली में प्रशासन की सख्ती के बाद भी लोग सबक नहीं ले रहे है।

छोटे-छोटे बच्चों को ऑटो अथवा अन्य वाहनों से ठूसकर उनकी जान जोखिम में डाली जा रही है। हालांकि प्रसाशन की ओर सभी स्कूल वाहनों को जांच के आदेश दिए है। सेफ स्कूल वाहन पॉलिसी का उल्लंघन करते पाए गए 18 से ज्यादा बसों को बंद भी किया गया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!