जेएनएन, चंडीगढ़। नगर निगम की वित्त एवं अनुबंध कमेटी के सदस्य बनने का चुनाव लडऩे के लिए कोई भी पार्षद 24 जनवरी तक नामांकन भर सकता है। नगर निगम ने शेडयूल जारी कर दिया है। 30 जनवरी को अनुबंध कमेटी के पांच सदस्यों के लिए चुनाव होगा। इसके साथ ही भाजपा के बागी उम्मीदवार सतीश कैंथ ने भी इस कमेटी का चुनाव लडऩे की घोषणा कर दी है। हालांकि कैंथ को चुनाव जीतने के लिए कम से कम पांच वोट की जरूरत पड़ेगी। जबकि कांग्रेस भी अपने एक पार्षद को अनुबंध कमेटी का चुनाव लड़ाएगी। कांग्रेस के चार पार्षद हैं। जबकि भाजपा अपने चार सदस्यों का नाम तय कर रही है। मेयर राजेश कालिया भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन और सांसद किरण खेर की सलाह से अपने उम्मीदवार तय करेंगे।

अरुण सूद का लड़ना तय माना जा रहा

पूर्व मेयर अरुण सूद का चुनाव लडऩा तय ही माना जा रहा है। इसके अलावा तीन और उम्मीदवारों का नाम भाजपा की ओर से तय किए जाएगा। ऐसे में खेर गुट के पार्षदों को उचित स्थान न मिलने पर एक बार फिर से हंगामा हो सकता है। खेर गुट के पार्षद चाहते हैं कि भाजपा के जो चार उम्मीदवार खड़े होने हैं, उनमें से दो पार्षद खेर गुट के होने चाहिए। टंडन गुट पूर्व मेयर अरुण सूद के अलावा पूर्व मेयर आशा जसवाल और शक्ति देवशाली को उम्मीदवार बनाना चाहता है।

सांसद गुट की ओर से ये लोग चर्चा में

जबकि सांसद गुट की ओर से महेश इंद्र सिद्धू, हीरा नेगी और पूर्व मेयर देवेश मोदगिल के नामों पर चर्चा हो रही है, लेकिन टंडन गुट पूर्व मेयर देवेश मोदगिल को अनुबंध कमेटी का सदस्य नहीं बनाना चाहता है। सहमति न बनने पर चुनाव होने की स्थिति में एक बार फिर से भाजपा को क्रॉस वोटिंग का सामना करना पड़ेगा, जिससे पार्टी की मेयर चुनाव की तरह ही किरकिरी होगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!