जागरण संवाददाता, मोहाली : राष्ट्रीय सफाई कमीशन की सदस्य अंजना पवार ने मंगलवार को मोहाली में पहुंच कर सफाई कर्मचारियों की शिकायतें सुनीं। इस दौरान पवार ने सफाई कर्मचारी यूनियन के नुमाइंदों के साथ बैठक की। पवार ने कर्मचारियों की जायज मांगों को पूरा करने के निर्देश दिए। इस दौरान निगम कमिश्नर कमल कुमार गर्ग और एडीसी डी हिमांशु अग्रवाल भी मौजूद रहे। सफाई सेवकों ने मांग की कि श्रम विभाग की ओर से सिफारिश किए कलेक्टर रेट सफाई कर्मचारियों को मिले। वहीं बीते दिनों सीवरेज की सफाई के दौरान मारे गए दो युवकों के मामले में कमीशन की सदस्य ने जानकारी ली। पवार ने कहा कि इस मामले में जो भी आरोपित पाए जाते है उन पर सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। इस तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। पवार ने कहा कि सीवरेज की सफाई करने वालों के लिए सीवरमेन शब्द को खत्म करना चाहिए। ये मानवता और बराबरी के संवैधानिक अधिकार का उल्लंघन है। पवार ने सीवरमेन की बजाए अन्य शब्द जैसे सफाई सेवक के इस्तेमाल करने की बात कहीं। पवार ने सीवरमैन के कुल पदों के बारे में जाना। इसके साथ साथ जिले की अन्य नगर परिषदों में सफाई सेवकों को आने वाली समस्याओं के बारे में जानकारी ली।

टीकाकरण पर दिया जोर

पवार ने सफाई सेवकों की सेहत के लिए टीकाकरण पर जोर दिया। सफाई सेवकों को सबसे ज्यादा बीमारियों का खतरा रहता है। इस लिए सफाई सेवकों की हर तीन महीने के बाद जांच होनी चाहिए। कमिशन की सदस्य ने सफाई सेवकों के रिहायशी योजना मुहैया करवाने की बात कहीं। इसके साथ साथ बाथरूम और महिलाओं के लिए हर वार्ड में दो चेजिग रूम होने की व्यवस्था पर जोर दिया।

Edited By: Jagran