संस, कालका (पंचकूला): व‌र्ल्ड हेरिटेज कालका-शिमला रूट पर वीरवार सुबह अचानक पहाड़ से मलबा गिरने के कारण रेलकार पटरी से उतर गई। बड़ोग स्टेशन के पास हुई इस घटना के कारण बीच रास्ते में मुसाफिर घंटों तक फंसे रहे। गनीमत रही कि इस घटना में कोई जनहानि नहीं हुई। चालक की सूझबुझ से बड़ा हादसा बच गया। इस बीच रेलवे ने रेलकार में सवार करीब नौ यात्रियों को सड़क मार्ग से शिमला पहुंचाया।

कालका रेलवे स्टेशन से सुबह 5:25 बजे शिमला के लिए रेलकार को रवाना किया गया था। रेलकार में नौ लोग सवार थे। इस दौरान बारिश हो रही थी। सैलानी रेलकार के सुहाने सफर का आनंद उठा रहे थे कि इस बीच करीब सात बजे बड़ोग रेलवे स्टेशन के पास अचानक पहाड़ से मलबे के साथ आया बड़ा पत्थर ट्रैक पर आ गिरा। विभागीय सूत्रों के अनुसार पहाड़ से मलबा गिरता देख चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगाया। मगर ब्रेक फेल हो गया। इतने में रेलकार पत्थर से टकरा कर पटरी से उतर गई। हालांकि चालक की सूझबूझ के कारण बड़ा हादसा बच गया। ट्रैक से मलबा हटाने में लगे कई घंटे तब बहाल हुआ यातायात

हादसे की सूचना मिलने के बाद कालका से शिमला के लिए रवाना की गई दो तीन टॉय ट्रेन को सनवारा तथा धर्मपुर आदि स्टेशनों पर रोक दिया गया। सुबह करीब 11 बजे ट्रैक साफ होने के बाद ट्रेनों को शिमला के लिए रवाना किया गया। इससे टॉय ट्रेन में बैठे सैलानियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। इस बीच ट्रेनों का शेड्यूल प्रभावित हुआ।

Edited By: Jagran