जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने एशियन विकास बैंक से 3127 करोड़ रुपये कर्ज लेने का फैसला किया है। यह राशि पटियाला, जालंधर, अमृतसर और लुधियाना में नहरी पानी से पेयजल की सप्लाई करने पर खर्च की जाएगी। इसके अलावा इससे पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य की धरोहरों को भी विकसित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कर्ज प्रस्तावों को तेजी से मंजूरी दिलाने के लिए एडीबी के कंट्री डायरेक्टर केनिची योकोयामा से अपील की है। योकोयामा मुख्यमंत्री से मिलने उनके सरकारी निवास पर पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ने योकोयामा को बताया कि पंजाब को पेयजल की कमी का सामना करना पड़ रहा है। पटियाला, जालंधर, अमृतसर और लुधियाना में यह कमी ज्यादा है। इन शहरों को ट्यूबवेल की जगह नहरों से पेयजल सप्लाई करने की योजना तैयार की है।

मुख्यमंत्री ने राज्य भर में ऐतिहासिक स्मारकों और इमारतों के संरक्षण संबंधी प्रोजेक्ट के लिए फंड दिए जाने की ज़रूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि पर्यटन एवं सांस्कृतिक विभाग ने पहले ही इन प्रोजेक्टों को लागू करने के लिए कार्य योजना को अंतिम रूप दे दिया है।

अमृतसर में पंजाब राज्य अजायब घर का समूचा रिकार्ड एक जगह पर रखने के लिए पटियाला और मोहाली के बीच विश्व स्तरीय पंजाब स्टेट आर्काइव्स एंड लाइब्रेरी विकसित करने का लक्ष्य है। बैठक में वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, स्थानीय निकाय, पर्यटन एवं सांस्कृतिक मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, मुख्य सचिव करन अवतार सिंह,  मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार, प्रमुख सचिव वित्त अनिरुद्ध तिवाड़ी, प्रमुख सचिव स्थानीय निकाय ए वेणु प्रसाद आदि उपस्थित थे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!