राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पंजाब विजिलेंस विभाग की टीम ने एक बार फिर से पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी के आवास पर दबिश दी है। हालांकि अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि पुलिस ने किस केस में पूर्व डीजीपी के सेक्टर-20 स्थित आवास पर छापा मारा है। सैनी के वकील रमनप्रीत सिंह भी आवास पर पहुंच चुके हैं लेकिन विजिलेंस ने उन्हें भी कोठी के अंदर नहीं जाने दिया। हालांकि देर रात को लोकल पुलिस स्टेशन के एसएचओ पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए।

अधिवक्ता रमनप्रीत सिंह ने विजिलेंस से कहा कि यह प्राइवेट प्रापर्टी है। आपकी कस्टडी में यह प्रापर्टी नहीं है, इसलिए वह उसे नहीं रोक सकते। आपने जो कार्रवाई करनी है, उसके लिए पहले स्थानीय पुलिस (यूटी पुलिस) को सूचित करें। इस पर विजिलेंस अधिकारियों ने कहा कि वह उनके काम में दखलअंदाजी कर रहे हैं। वे पूरी तरह से कानून के मुताबिक काम कर रहे हैं।

जब सैनी के वकील से यह पूछा गया कि क्या सैनी कोठी के अंदर हैं तो उन्होंने कहा कि वह अंदर नहीं हैं। उन्हें तो सैनी के सुरक्षाकर्मियों ने सूचित किया है क्योंकि वह उनके केस लड़ते हैँ और लगातार उनके संपर्क में रहते हैं। इसलिए, सुरक्षाकर्मी उन्हें जानते हैं। उन्हाेंने ही उन्हें बताया कि विजिलेंस की टीम आई है, जिसके बाद वह यहां आए हैं। विजिलेंस के अधिकारी भी यह नहीं बता रहे हैं कि वह किस केस में छापामारी करने आए हैं।

सोमवार देर शाम चंडीगढ़ के सेक्टर-20 स्थित पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी के आवास पर मौजूद विजिलेंस ब्यूरो के अधिकारी।

विजिलेंस की टीम देर शाम सुमेध सिंह सैनी के सेक्टर-20 स्थित आवास पर पहुंची लेकिन सैनी के सुरक्षाकर्मियों ने उनसे कहा कि वह घर पर नहीं हैं। सिविल वर्दी में आए पुलिस अधिकारियों ने मीडिया कर्मियों को भी यह नहीं बताया कि वह किस केस में सैनी को गिरफ्तार करने आए हैं। उन्होंने कहा कि वे यह नहीं बता सकते।

यह भी पढ़ें - Adani Logistics Park Closure: किसानों की 'जिद' से गई नौकरी, टूटा मुसीबतों का पहाड़, बच्चों की फीस व लोन चुकाना मुश्किल

 

Edited By: Pankaj Dwivedi