चंडीगढ़, जेएनएन। Punjab Teachers: पंजाब के मुख्‍यमंत्री भगवंत मान ने राज्‍य के करीब नाै हजार कच्‍चे (अस्‍थायी) शिक्षकाें काे  पक्‍का (स्‍थायी) करने का अपना वादा पूरा कर‍ दिया है। इन शिक्षकों को पक्का करने का फैसला 5 सितंंबर को अध्यापक दिवस वाले दिन लिया था। इस संबंध में आज नोटिफिकेशन जारी किया है। अब जल्‍द ही 36 हजार कच्‍चे कर्मचारियों की बारी आएगी और उनको पक्‍का किया जाएगा। कुल 8736 शिक्षकों को नियमित किया गया है। 

राज्‍य सरकार ने शिक्षकों को नियमित करने की नोटिफिकेशन जारी किया

मुख्‍यमंत्री भगवंत मान ने इस संबंध ट्वीट कर जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि यह वादा सरकार ने पूरा कर दिया है। और लगभग नौ हजार कच्चे अध्यापकों को पक्का करने वाला नोटिफिकेशन जारी कर दिया। अब बाकियों को भी जल्‍द ही स्‍थायी किया जाएगा। इसके साथ ही उन्‍होंने राज्‍य के 36 हज़ार कच्‍चे कर्मचारियो को भी जल्‍द स्‍थायी  करने की भी बात कही।

मुख्‍यमंत्री भगवंत मान ने कहा- जो कहते हैं वो करते हैं

मुख्‍यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि हम जाे कहते हैं वाे करते हैं। हम पंजाब के लोगों और कर्मचारियों से किए गए वादे निभाएंगे। बता दें कि राज्‍य में 36 हजार कच्‍चे कर्मचारियों को पक्‍का करने का मामला कांग्रेस सरकार के समय से लटका हुआ है। आम आदमी पार्टी ने भी पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान वादा किया था कि उसकी सरकार बनने पर इन कर्मचारियाें को स्‍थायी किया जाएगा। ले‍किन, इस मामले मेंं कानूनी अड़चन के कारण ऐसा करना संभव नहीं हुआ है। 

36 हजार कच्‍चे कर्मियों को पक्‍का करने में आ रही कानूनी अड़चन होगी दूर 

राज्‍य सरकार ने 36 हजार इन कच्‍चे कर्मचारियों को पक्‍का करने में आ रही बाधा और कानूनी अड़चन को दूर करने के लिए कैबिनेट की सब कमेटी भी बनाई है। यह कमेटी कर्मचारियों को स्‍थायी करने के उपाय तलाश रही है। माना जा रहा है कि इसके बाद राज्‍य सरकार इन 36 कच्‍चे  कर्मचारियों को पक्‍का कर देगी। 

शिक्षकों के शिष्‍टमंडल ने सीएम भगवंत मान से की मुलाकात   

इन अध्यापकों के एक शिष्टमंडल ने आज मुख्यमंत्री से मुलाकात भी की। इस शिष्टमंडल ने लंबे समय से लटकी आ रही मांगों को स्वीकार करने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार जताया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने उन्हें अधिसूचना की कापी भी सौंपी। उन्होंने कहा कि 8736 अध्यापकों की सेवाएं रेगुलर करने की अधिसूचना जारी होने के बाद अब उन लोगों को भी नियमित किया जाएगा जो कई सालों से ठेके पर काम कर रहे हैं।

नियमित हुए अध्यापकों में से भी कई ऐसे थे जिन्हें 14 साल से भी ज्यादा समय हो चुका है। मुख्यमंत्री ने इस बात पर बल दिया कि विद्यार्थियों के भविष्य के लिए अध्यापकों की रोजी रोटी को सुरक्षित करना जरूरी है। इसी तथ्य को मुख्य रखते हुए अध्यापकों को नियमित करने का फैसला लिया गया है।

भगवंत मान ने अध्यापकों से आह्वान किया कि वह अपने विद्यार्थियों को कान्वेंट स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों से प्रतिस्पर्धा करने लायक बनाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों को हर क्षेत्र में आगे आने के लिए प्रेरित करना चाहिए। 

Edited By: Sunil kumar jha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट