जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। 28 सितंबर का दिन डड्डूमाजरा के लोगों के लिए खास दिन होगा। क्योंकि इस दिन उनकी सबसे बड़ी समस्या का हल होना शुरू हो जाएगा। हम बात कर रहे हैं डड्डूमाजरा के डंपिंग ग्राउंड की। डंपिंग ग्राउंड में लगे बड़े कचरे का पहाड़ को प्रोसेस करने का काम आज से 3 दिन बाद 28 सितंबर से शुरू होगा। इस काम का उद्घाटन पंजाब के गवर्नर यूटी प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित खुद करेंगे।

डंपिंग ग्राउंड में लगे कूड़े के पहाड़ को प्रोसेस करने का काम एक कंपनी को सौंपा जा चुका है। इसके लिए नगर निगम ने कंपनी को 70 करोड़ का टेंडर अलाट किया है। नगर निगम का दावा है कि एक साल के भीतर कचरे का पहाड़ साफ हो जाएगा और जो जमीन खाली होगी उस पर कोई बड़ा विकास का प्रोजेक्ट बनाया जाएगा।

कंपनी को सम्मानित कर चुकी हरियाणा सरकार

यह कूड़े का पहाड़ 45 एकड़ जमीन में फैला हुआ है। जिस आकांक्षा एंटरप्राइजेज कंपनी को यह कचरा प्रोसेस करने का काम दिया गया है। वह अपनी मशीनें लेकर पहुंच गई है। इस कंपनी को हरियाणा सरकार भी सम्मानित कर चुकी है। कंपनी का दावा है कि उन्होंने कई शहरों में इस तरह के कचरे के पहाड़ को खत्म किया है।

रिपोर्ट पेश करेंगी निगम कमिश्नर

28 सितंबर के होने वाले इस कार्यक्रम के लिए नगर निगम तैयारी कर रहा है जिसमें प्रशासन और नगर निगम के आला अधिकारियों के अलावा मेयर और पार्षद भी मौजूद रहेंगे। 30 सितंबर को नगर निगम सदन की बैठक में भी इस काम के शुरू होने पर कमिश्नर अपनी रिपोर्ट पेश करेंगी। इसके अलावा इस सदन की बैठक में जो पार्षद हाल ही में स्टडी टूर पर गए थे। वह भी अपनी रिपोर्ट पेश करेंगे।

क्रेडिट वार के लिए राजनीति शुरू

डंपिंग ग्राउंड के इस कचरे के पहाड़ को प्रोसेस करने के काम को लेकर राजनीतिक दलों में क्रेडिट बार भी शुरू हो गई है। भाजपा इसका क्रेडिट लेकर आने वाले लोकसभा चुनाव में डड्डूमाजरा के लोगों का वोट बटोर ना जाती है।जबकि अब डड्डूमाजरा का वार्ड पार्षद आम आदमी पार्टी का है आम आदमी पार्टी भी इसका क्रेडिट लेना चाहती है।

13 लाख मीट्रिक टन कचरा होगा प्रोसेस

नगर निगम ने 13 लाख मीट्रिक टन कचरे को प्रोसेस का काम कंपनी को दिया है। यह कचरा आठ एकड़ जमीन पर पड़ा हुआ है। डड्डूमाजरा के लोग इस कचरे के पहाड़ से मुक्ति का इंतजार कर रहे हैं।

33 करोड़ से अन्य कचरे के पहाड़ को प्रोसेस करने का हो रहा है काम 

जबकि पहले के कचरे के पहाड़ को प्रोसेस करने का काम चल रहा है, जिस पर 33 करोड़ रुपये का खर्च किए जा रहे हैं।लेकिन इस काम की गति काफी धीमी है। डंपिंग ग्राउंड एक बड़ा मुद्दा है जो सिटी ब्यूटीफुल पर दाग है।  कुल 45 एकड़ का डंपिंग ग्राउंड है, जिनमें से 7.67 लाख मिट्रिक टन कचरे का नया पहाड़ बना हुआ है। यह कचरा साल 2005 के बाद का है।  शहर में प्रतिदिन 500 टन कचरा निकलता है। यह कूड़े का पहाड़ पिछले वर्षों में प्रोसेस न करने की वजह से बना है।

Edited By: Ankesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट