जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) का खतरा मंडराते देख अब अचानक से वैक्सीनेशन बढ़ गई है। पहले जहां बुलाने से भी वैक्सीनेशन सेंटर पर कोई नहीं आता था। खासकर पहली डोज लगवा चुके वह लोग जो दूसरी लगवाने नहीं आ रहे थे। उन्हें फोन कर बुलाने पर भी वह नहीं आ रहे थे। लेकिन अब संख्या बढ़ गई है।

सोमवार को ही 5265 लोगों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगा। साप्ताहिक औसत 4920 से भी यह आगे निकल गया है। लोगों की भीड़ को देखते हुए अब स्वास्थ्य विभाग बंद किए गए वैक्सीनेशन सेंटर को फिर से शुरू करने की तैयारी कर चुका है। जिन एरिया से अधिक लोग टीका लगवाने आ रहे हैं वहां यह सेंटर शुरू किए जाएंगे।

पांच महीने के लंबे अंतराल बाद सोमवार को संक्रमित मामले पहली बार दहाई के अंकों में सामने आए। सोमवार को एक साथ 12 मामले सामने आए। इससे पहले सात जुलाई से मामले ईकाइ में आ रहे थे। इससे पॉजिटिविटी रेट एकदम से बढ़कर 0.61 फीसद तक पहुंच गया। अब सात दिनों में पॉजिटिव केस की दर भी सात हो गई है। जबकि कुछ दिन पहले तक यह दो या तीन ही होती थी। 12 मामले आने से सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है। आठ मरीज ठीक भी हुए। हालांकि केस बढ़ने पर सैंपलिंग बढ़ाई गई है। 24 घंटे में 1969 सैंपल टेस्ट किए गए।

स्वास्थ्य विभाग लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है। शहर में अब रोजाना मोबाइल वैन से मुफ्त कोरोना टेस्ट की सुविधा जारी है। विभाग द्वारा चलाई जा रही मोबाइल टेस्टिंग वैन शहर के विभिन्न हिस्सों में जाकर लोगों को फ्री टेस्ट कर रही है। ताकि संदिग्ध मरीजों का पहले पता चल सके और उनका समय पर इलाज भी किया जा सके।

Edited By: Ankesh Thakur