चंडीगढ़, जेएनएन। पाकिस्‍तान में एक सिख युवती को अगवा कर जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर पंजाब में भी हंगामा मच गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधा है। उन्‍होंने इमरान खान को कड़ा पत्र लिख कर कड़ा एतराज जताया है। उधर भारत के एतराज के बाद पाकिस्‍तान ने इस मामले में कदम उठाया है। पाक सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

सिख युवती के धर्मांतरण पर पंजाब में बवाल, पाकिस्‍तान ने अब उठाया कदम

पाकिस्तानी पंजाब के मुख्यमंत्री सरदार उस्मान बुजदार ने यह आदेश दिए। उधर, पाकिस्तान के अंदरूनी मामलों के मंत्री इजाज अहमद ने कहा कि युवती को पहले घर वालों के हवाले किया जाना चाहिए। उसके बाद ही उसके निकाह के बारे में बात की जाएगी।कैप्‍टन अमरिंदर ने पाकिस्तान में एक ग्रंथी की बेटी का जबरन धर्म परिवर्तन करवाकर उससे निकाह करने का मामला मामले पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को ननकाना साहिब में हुए इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने को कहा।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया, 'यह बेहद दुखद घटना है कि एक सिख लड़की का अपहरण करके उसे जबरन इस्लाम कुबूल करवा दिया है। मैंने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है और विदेश मंत्री एस. जय शंकर से कहा है कि वह इस मामले को जल्द से जल्द अपने समकक्ष से उठाएं।

भारत के दबाव में पाक ने सिख युवती मामले में दिए जांच के आदेश

गौरतलब है कि ननकाना साहिब से एक सिख लड़की पिछले कई दिनों से गायब थी और जब वह मिली तो पता चला कि जबरन इस्लाम कुबूल करवाकर उसका निकाह करवा दिया गया है। 19 वर्षीय जगजीत कौर गुरुद्वारा तंबू साहिब के ग्रंथी की बेटी है। उसका बंदूक के बल पर धर्म परिवर्तन करवाया गया है। युवती के पिता ने कहा कि यदि उनकी बेटी को न छोड़ा गया तो वह पाकिस्तानी पंजाब के राज्यपाल के घर के सामने आत्मदाह कर लेंगे।

जगजीत कौर के भाई सुरिंदर सिंह ने बताया कि कुछ गुंडे हमारे घर में जबरन घुस आए और उन्होंने मेरी बहन का अपहरण कर लिया। उन्होंने उसे प्रताडि़त किया और उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवा दिया। वह उनके खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत भी दर्ज करवाने के लिए गए और कई अधिकारियों से मिलने की कोशिश की, लेकिन किसी ने उनकी शिकायत नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि ये गुंडे फिर से हमारे घर पर आए और उन्होंने हमें शिकायत वापस लेने के लिए दबाव डाला। यही नहीं उन्होंने यह भी धमकी दी कि यदि हमने शिकायत वापस नहीं ली तो वह उनका भी जबरन धर्म परिवर्तन करवा देंगे।

परिवार ने भी की अपील

परिवार ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा से युवती की सुरक्षित वापसी की अपील की है। पाकिस्तान में सिख समुदाय ने इस घटना की कड़ी निंदा की है और इसको लेकर गुरुद्वारा ननकाना साहिब में एक मीटिंग भी की है। पता चला है कि पाकिस्तान पंजाब का प्रशासन सिख समुदाय के साथ बातचीत कर रहा है। लड़की जबरन धर्म परिवर्तन का एक वीडियो भी वायरल हो गया है। मौलवी उसका निकाह एक मुस्लिम लड़के हसन के साथ करवा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंं: कृष्ण भक्त विदेशी बाला बनी भारतीय युवक की प्रेम दीवानी, फिर जन्माष्टमी पर उठाया ऐसा कदम

इधर, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि सिख भाईचारा दुनिया को दिखाएगा कि पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के साथ क्या कर रहा है। उन्होंने कहा, 'इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया जाएगा और कार्रवाई की जाएगी।' उन्होंने कहा कि पंजाब की दूसरी पार्टियों में इमरान खान के दोस्तों को उन्हें बता देना चाहिए कि वह ऐसी चीजों पर रोक लगाएं।' उनका इशारा नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ था।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!