चंडीगढ़, जेएनएन। बॉलीवुड स्टार सलमान खान के साथ अभिनेत्री भाग्यश्री की बेटी अवंतिका दसानी के बीच कोई फ‍िल्म साइन नहीं हुई है। भाग्यश्री ने इसे अफवाह बताया है। अभिनेत्री ने कहा कि उनका बेटा जरूर फिल्मों में काम कर रहा है। पुराने वक्त की बात करूं तो पहले गीत बहुत सुरीले थे। मगर आज के गीत लिखे ही ऐसे जाते हैं कि वो भूल जाते हैं। साथ ही मुझे नहीं लगता कि मैंने प्यार किया जैसी फिल्म का कोई सीक्वेल भी बन सकता है।

हिंदी फ‍िल्मों से गायब होने की बताई वजह

फिल्म 'मैंने प्यार किया' को किए 30 वर्ष से ऊपर हो गए हैं। मगर फिर भी लोग मुझे जानते हैं। मैं इसी में खुश हूं। अब कोई मुझसे पूछता है कि आपने 'मैंने प्यार किया' के बाद आपने क्या किया, तो मैं यही कहती हूं कि मैंने प्यार किया। चंडीगढ़ में अभिनेत्री भाग्यश्री ने कुछ इसी अंदाज में अपनी पहली हिट फिल्म मैंने प्यार किया के बाद हिंदी फिल्मों से गायब होने की वजह बताई। 

दुष्कर्मियों को मारना रावण वध की तरह, कठोर हो कानून

भाग्यश्री ने हैदराबाद पुलिस द्वारा चारों दुष्कर्मियों के एनकाउंटर करने पर अपनी राय व्यक्त की। उन्होंने कहा कि कानून तो इसकी इजाजत नहीं देता मगर ऐसी घटना से आरोपितों पर जरूर लगाम लगेगी। हमें कानून में कठोरता लानी भी होगी, निर्भया कांड के बाद ऐसा कोई ठोस कानून नहीं बन पाया, जिससे दुष्कर्म जैसी घटनाएं कम हों। ऐसे में इस तरह की कार्रवाई वैसी ही है जैसे रावण का दहन करना। निर्भया कांड के एक आरोपित जिसकी उम्र उस समय 18 वर्ष कम थी, उसे कुछ समय पहले सजा पूरी होने पर छोड़ दिया गया। मुङो बहुत बुरा लगा। ऐसा कैसे हो सकता है। भला एक व्यक्ति जो ऐसा कर सकता है, उसे उम्र की वजह से कैसे छोड़ा जा सकता है। हमें सख्त कानून की सख्त जरूरत है।

राजनीति से दूर ही सही

भाग्यश्री ने हाल ही में राजनीतिक कैंपेन में हिस्सा लिया था, उन्होंने कहा कि वो मैंने अपने केवल दोस्त के लिए किया था। मुझे राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं। राजनीति बहुत अजीब है, एक नेता इस पार्टी में चला जाता है तो दूसरा नेता किसी और पार्टी में। ऐसे में राजनीति पर विश्वास नहीं करती। 

शादी के बाद सिनेमा से ज्यादा परिवार को तरजीह दी

भाग्यश्री ने कहा कि पहली फिल्म मैंने प्यार किया के समय मेरी उम्र 19 थी। इसके बाद मेरी शादी हो गई। फिर जिम्मेदारियां इतनी थी कि मैंने अपने परिवार को पहले तरजीह दी। जिसकी वजह से सिनेमा की तरफ ध्यान नहीं गया। मगर मैं अपने परिवार के साथ बहुत खुश हूं। मैंने अपने परिवार में पढ़ाई को बहुत अहमियत दी। मेरी बेटी भी हाल ही में बिजनेस की पढ़ाई करके लौटी है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!