जेएनएन, चंडीगढ़। बाबा रामदेव का कहना है कि ये धरती सत्य से चलती है। यह कर्म, फल और न्याय व्यवस्था वाला देश है। ये मोदी जी की नीयत, नीतियों, चरित्र और ईमानदारी पर जनता के भरोसे की जीत है। जो कहा उसे पूरा किया। इस बार के चुनाव परिणाम ने आने वाले 25 से 30 साल तक की राजनीति की रूपरेखा तय करने का काम शुरू कर दिया है। अब वह दिन दूर नहीं जब देश से पूर्ण रूप से गरीबी का भी उन्मूलन होगा। देश अमेरिका और चीन से बराबर का मुकाबला कर पाएगा।

बाबा रामदेव पीजीआइ में आयोजित एनुअल फेस्ट जेनिथ 2019 में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचेे थे। उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा, वहीं, राजनीति में आने के नाम पर खुद का कर्म योग धर्म बताया।



गनीमत है अनाथ होने से बच गई पार्टी

चुनाव परिणाम पर कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि शुक्र है राहुल गांधी वायनाड से जीत गए, वरना पूरी पार्टी अनाथ हो जाती। यह क्या छोटी उपलब्धि है कि पार्टी एक स्थान से चुनाव जीत गई। वहीं, प्रियंका गांधी के बनारस से चुनाव न लड़ने की बात पर कहा कि इस एक निर्णय ने उनका पॉलिटिकल करियर शुरू होने से पहले खत्म होने से बचा लिया।

योग और गीता पाठ का सहारा लेकर कांग्रेस की हार पर बयानबाजी करने के बजाय रामदेव ने चुटकी ली और कहा कि हारे को सताना नहीं चाहिए। अब हार के तनाव से बचाव के लिए कांग्रेसियों को अनुलोम-विलोम और कपालभाति का सहारा लेना चाहिए। उन्होंने आत्मिक संतुष्टि के लिए उन्हें गीता पाठ करने की भी सलाह दी। उनका कहना था कि अब योग और अध्यात्म ही कांग्रेस को मानसिक तनाव से मुक्ति दे सकता है।

साध्वी प्रज्ञा के मामले पर गोलमोल जवाब

इस दौरान साध्वी प्रज्ञा के बयान पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने गोलमोल जवाब दिया। कहना था कि शक के आधार पर कोई निर्णय लेना उचित नहीं होता। जहां तक साध्वी प्रज्ञा द्वारा नाथूराम गोडसे पर दिए गए बयान की बात है तो मोदी ही नहीं, वह किसी को भी नागवार ही लगेगा। खुद के राजनीति में आने की बात पर उन्होंने बेबाकी से कहा मैं मेरा धर्म योग है। जहां तक राजनीति में आने की बात है तो जब देश की राजनीति में अराजकता छाई थी, तब मैंने अपनी बात जनता तक पहुंचाई। उसका असर दिख रहा है। राजनीति में मेरा वही योगदान था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!