चंडीगढ़, [डॉ. सुमित सिंह श्योराण]। पंजाब यूनिवर्सिटी एफिलिएटेड शहर के 11 प्राइवेट और सरकारी कॉलेजों में बीकॉम की सीटों पर दाखिले के लिए इस बार जमकर मारामारी होगी। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) द्वारा 12वीं के घोषित रिजल्ट में कॉमर्स संकाय के स्टूडेंट्स ने अंकों के पिछले रिकॉर्ड काे तोड़ा है। जानकारी के अनुसार पंचकूला रीजन से ट्राईसिटी के ही करीब 700 स्टूडेंट्स ने कॉमर्स संकाय में नब्बे फीसद से अधिक अंक हासिल किए हैं। ऐसे में बीकॉम में दाखिले के लिए इस साल कंपीटिशन काफी मुश्किल रहेगा। कॉलेजों में कॉमर्स संकाय के एक्सपर्ट की मानें तो जून में होने वाले बीकॉम दाखिल के लिए कट ऑफ का बीते साल के मुकाबले 2 से 3 फीसद तक बढऩा तय है। बीकॉम दाखिल के लिए इस बार भी सेंट्रलाइज्ड काउंसलिंग होगी। डायरेक्टर हायर एजुकेशन (डीएचई) की देखरेख में सेक्टर-10 स्थित डीएवी कॉलेज को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। चंडीगढ़ के कॉलेजों में बीकॉम के लिए पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, दिल्ली सहित देशभर से स्टूडेंट्स आवेदन करते हैं। बीते साल भी करीब साढ़े सात हजार से अधिक आवेदन आए थे। बीकॉम एडमिशन का पूरा शेड्यूल जल्द ही घोषित कर दिया जाएगा। इस संबंध में कॉलेज के आला अधिकारियों की एक मीटिंग इसी हफ्ते हुई है।

बाहर के स्टूडेंट्स के लिए 15 फीसद सीटें

शहर के कॉलेजों में बीकॉम की कुल सीटों में से 85 सीटें चंडीगढ़ के स्कूलों से 12वीं करने वाले स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व हैं, जबकि 15 फीसद सीटों पर ही बाहरी स्टूडेंट्स को दाखिला मिलेगा। मोहाली और पंचकूला के स्कूलों से 12वीं करने वाले स्टूडेंट्स भी आउटसाइड यूटी पूल (जनरल कोटे) में गिने जाएंगे। बीते साल आउटसाइड यूटी पूल में कट ऑफ 108.6 परसेंटाइल रहा था, जबकि एसडी कॉलेज में कट ऑफ 112.20 और डीएवी कॉलेज में 110.94 परसेंटाइल कट ऑफ रहा । उधर यूटी पूल में एसडी कॉलेज में कट ऑफ 107 और डीएवी कॉलेज में 96.4 परसेंटाइल रहा। पीयू के ईवनिंग डिपार्टमेंट में बीकॉम की 70 सीटों पर दाखिला दिया जाएगा। इन सीटें में पूल कोटा नहीं होगा।

 जीएसटी शुरू होने से कॉमर्स के विद्यार्थियों के लिए बढ़े रोजगार के अवसर

देश में जीएसटी लागू होने के बाद कॉमर्स फील्ड से जुड़े युवाओं के लिए रोजगार के अवसर काफी बढ़ गए हैं। सेक्टर-32 स्थित एसडी कॉलेज के प्रोफेसर अजय शर्मा का कहना है कि अब स्टूडेंट्स बीकॉम में दाखिले के साथ-साथ कंपनी सेक्रेटरी, चार्टेड अकाउंटेंड जैसे कोर्स साथ ही कर सकते हैं। प्रो. अजय भी मानते हैं कि इस बार सीबीएसई और आइसीएस में कॉमर्स के स्टूडेंट्स ने शानदार प्र्दशन किया है। ऐसे में कट ऑफ बढ़ सकती है।

बीकॉम में Girls के लिए अधिक सीटें

शहर के प्राइवेट और सरकारी कॉलेजों में बीकॉम दाखिले में लड़कियों को ही अधिक सीटें मिलेंगी। गौरतलब है कि शहर के 11 कॉलेजों में से पांच गल्र्स कॉलेज हैं। जबकि पांच अन्य को-एजुकेशनल(कोएड) कॉलेजों में भी लड़कियों को लड़कों के बराबर मौका मिलेगा। ऐसे में लड़कियों को ही अधिक सीटें मिलना तय है। सूत्रों के अनुसार बीते सालों का ग्राफ देखें तो बीकॉम में 70 फीसद सीटों पर लड़कियों का दबदबा रहता है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vipin Kumar