जागरण संवाददाता, मोहाली। मोहाली में कितने पेड़ हैं, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने इस की जानकारी मांगी है। इसको लेकर मोहाली नगर निगम की ओर से शहर में लगे पेड़ों पर नंबरिंग की करवाई जा रही है। निगम अधिकािरयों के मुताबिक नंबरिंग से शहर में लगे हुए पेड़ों का पूरा रिकॉर्ड भी तैयार हो जाएगा। अभी तक  शहर में कितने पड़े हैं निगम के पास पेड़ों का सही आंकड़ा नहीं है।

शहर के पर्यावरण प्रेमियों ने नगर निगम के खिलाफ एनजीटी को शिकायत की थी। शिकायत में आरोप लगाया गया था कि नगर निगम की ओर से शहर में पेड़ों का सही रख रखाव नहीं किया जा रह है। सड़क किनारे जो पेवर ब्लॉक लगाए जा रहे हैं, वे पेड़ों से बिल्कुल सटकर लगाए जा रहे हैं। इस कारण पेड़ों की ग्रोथ रुक रही है। एनजीटी ने निर्देश देते हुए कहा था कि शहर में जहां पर भी पेड़ों के साथ पेवर लगाए हैं उन्हें हटाया जाए। पेड़ के इर्ज गिर्द एक मीटर एरिया तक जगह खाली की जाए, ताकि पेड़ सांस ले सके। निर्देश पर निगम की ओर से शहर में पेड़ों के आस-पास से पेवर ब्लॉक हटाने का काम भी शुरू कर दिया गया है।

एनजीटी ने निगम को यह भी निर्देश दिए गए थे कि शहर में पेड़ों की मेंटेनेंस और देखभाल के लिए एक ट्री-अफसर नियुक्त किया जाए। ऐसे में अब निगम की ओर से ट्री-अफसर नियुक्त किया जाएगा, यह उसका ही काम होगा कि वह एक रजिस्टर मेंटेन करें, जिसमें पूरे शहर में लगे हुए पेड़ों का हिसाब-किताब हो। अगर किसी भी एरिया में कोई भी पेड़ों को बिना मंजूरी काटता है तो ट्री अफसर की सिफारिश पर ही ऐसे लोगों पर कार्रवाई भी की जाएगी। मोहाली नगर निगम कमिश्नर कमल गर्ग ने बताया कि एनटीजी जो भी निर्देश हैं उनके तहत काम किया जा रहा है। जल्द ही नंबरिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा और पेड़ों की शहर में कितनी संख्या है और क्या स्थिति है इसकी पूरी रिपोर्ट  नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूलन को भेजी जाएगी।

Edited By: Ankesh Thakur