जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार की तरफ से करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। बावजूद इसके खिलाड़ियों को इस स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर का फायदा नहीं मिल पा रहा है। स्पोर्ट्स कांप्लेक्स -39  का उद्घाटन हुए तकरीबन दो साल से अधिक का समय हो गया, लेकिन खेल विभाग की तरफ से अभी तक कोच नियुक्त नहीं किया गया है। इस वजह से सेक्टर-39,38,40 41 इसके आसपास के खिलाड़ियों को दूसरे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में अभ्यास करने के लिए जाना पड़ता है।

इस स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के निर्माण पर विभाग ने तकरीबन आठ करोड़ रुपये खर्च किए थे। स्पोर्ट्स कांप्लेक्स -39 का उद्घाटन 5 नवंबर 2019 को किया गया था, लेकिन देश व शहर में कोविड-19 के मामले बढ़ने के कारण इस स्पोर्ट्स कांप्लेक्स को बंद कर दिया गया था। इसके बाद से यह स्पोर्ट्स स्पोट्स कांप्लेक्स दोबारा शुरू नहीं हुआ है। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि अभी कोच नहीं नियुक्त किए गए हैं, जिसके कारण स्पोर्ट्स कांप्लेक्स को बंद किया गया है। इस स्पोर्ट्स कांप्लेक्स -39 में तीन खेलों का सेंटर है। जिसमें टेनिस, स्वमिंग और योगा हाल है।

आयुष मंत्रालय की तरफ से चलाया जा रहा है सिर्फ योग सेंटर

इस स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में सिर्फ योग सेंटर चलता है। इस सेंटर को भी आयुष मंत्रालय के योग गुरू हरविंदर सिंह चलाते हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना काल से पहले जहां 40 से 50 लोग योग सीखने के लिए आते थे, लेकिन पहले कोरोना और अब ढेंगू के डर से काफी कम लोग आ रहे हैं।

----

"स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में फिलहाल योग सेंटर चल रहा है, जबकि टेबल टेनिस शुरू करने के लिए कुछ दिन पहले स्पोर्ट्स डायरेक्टर तेजदीप सिंह सैनी से बात की थी, तो उन्होंने बताया था कि इच्छुक खिलाड़ी अपने फार्म भर दें, इसके बाद इस स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में टेबल टेनिस शुरू कर दिया जाएगा।

                                                                                                      -गुरबख्श रावत, एरिया पार्षद

----

"स्पोर्ट्स कांप्लेक्स -39 में सिर्फ तीन खेलों के लिए है। इसमें योग का सेंटर आयुष मंत्रालय की तरफ से चलाया ही जा रहा है। इसके अलावा कोरोना की वजह से इस साल इस सत्र में स्विमिंग पूल शुरू नहीं किया गया, इसको अब अगले सत्र में ही शुरू किया जाएगा। कोरोना काल की वजह से कोचों की नियुक्ति में देरी हुई है, टेबल टेनिस का फिलहाल हमारे पास कोई अतिरिक्त कोच नहीं है,

                                                                  -कृष्ण लाल, जिला खेल अधिकारी, यूटी स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट

Edited By: Ankesh Thakur